HomeHealth Tips

What is Turmeric Meaning in Hindi & Benefits of Turmeric

हल्दी यानि Turmeric in Hindi

आज हम आपको हर एक घर में इस्तेमाल किये जाने वाले मशाले हल्दी के बारे में बताने वाले हैं, इसीलिए हमारी पोस्ट का टाइटल हैं , “Turmeric in Hindi” अर्थात हल्दी की हिंदी में जानकारी| हल्दी को वैसे तो मशाले के रूप में इस्तेमाल किया जाता हैं, लेकिन हल्दी में बड़े बड़े रोगो को ठीक करने के गुण होते हैं| वैदिक काल से ही हल्दी का इस्तेमाल हर घर में किया जाता हैं| Turmeric प्राकर्तिक एंटीबायोटिक हैं| हल्दी के इन्ही गुणों के आधार पर हल्दी को प्राकर्तिक औषधी का दर्जा दिया गया हैं|

Turmeric in Hindi

हल्दी के अनेक फायदे तो हैं ही, साथ ही भारत में हल्दी का उपयोग धार्मिक कार्यो में भी किया जाता हैं| भारत में शादी से पहले दुल्हन और दूल्हे दोनों को हल्दी का उबटन लगाया जाता हैं| आज हम आपको असंख्य गुणों से भरपूर हल्दी के फायदों के बारे में बतायेगे, जिन्हे जानकर आप बिना दवाई स्वस्थ जीवन जी सकते हैं| तो आइये जाने (Haldi Benefits in Hindi) हल्दी के फायदे|

 

Turmeric Meaning in Hindi (हल्दी का हिंदी मीनिंग)

पुरे विश्व में Turmeric एक ऐसा मशाला हैं, जिसका सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाता हैं| लेकिन भारत में 75 % लोग Turmeric का हिंदी मीनिंग नहीं जानते| आज हम अपनी पोस्ट में आपको Turmeric का हिंदी मीनिंग बतायेगे| Turmeric को हिंदी में हल्दी कहते हैं| कुछ लोग हल्दी को हरिद्रा के नाम से भी जानते हैं| हल्दी का हल्दी पीले रंग की होती हैं| इसके पौधे छोटे छोटे होते हैं| हल्दी आलू की तरह जमीन के निचे पौधे की जड़ो से प्राप्त होती हैं| वानस्पतिक नाम Curcuma longa हैं|

हल्दी के फायदे – Haldi ke Fayde (Benefits of Turmeric in Hindi)

1. आजकल कुछ लोगो को बढ़ते तनाव के कारण नींद ना आने की प्रॉब्लम होने लगती हैं| अगर . आपको ऐसी प्रॉब्लम हैं, तो सोने से पहले एक गिलास दूध में आधी से एक चम्मच हल्दी पाउडर मिलाकर पियें। हल्दी वाले गर्म दूध में एक प्रकार का अमीनोअम्ल पाया जाता हैं, जो आपके दिमाग को शांत करता हैं, जिससे आपको नींद अच्छी आती हैं।

2. शरीर के किसी भी हिस्से में दर्द होने पर हल्दी वाला दूध पियें| इससे दर्द ख़त्म हो जायेगा| डॉक्टर भी गुम चोट लगने या शरीर में दर्द होने पर हल्दी वाला गर्म दूध पीने की सलाह देते हैं| हल्दी वाला दूध पीने से शरीर की हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूती मिलती हैं|

3. हल्दी वाला दूध एंटी-सेप्टिक होता हैं| यह पाचन किर्या को मजबूत बनाकर, पाचन से जुड़े रोगो जैसे अपच, अल्सर, डायरिया और कब्ज को नहीं होने देता|

4. रोजाना एक गिलास हल्दी वाला दूध पीने से एक्ज़ीमा का रोग धीरे धीरे कम होने लगता हैं|

5. लिवर के लिए हल्दी वाला दूध बहुत लाभदायक होता हैं| जिन लोगो का लिवर कमजोर होता हैं, उनको हल्दी वाला दूध पीना चाहिए| हल्दी वाला दूध पीने से लिवर मजबूत होता हैं| हल्दी का दूध पीने से लिवर की अंदर से सफाई होती हैं|

6. जिन लोगो को साँस से जुडी बीमारी हैं, उनके लिए हल्दी का सेवन लाभकारी हैं| हल्दी वाला दूध पीने से से शरीर में गरमाहट आती हैं, जिससे साइनस और फेफड़ो में होने वाली जकड़न से तुरंत आराम मिलता हैं| हल्दी वाला दूध पीने से अस्थमा जैसी बीमारी भी ठीक हो जाती हैं।

7. हल्दी में अनेक प्रकार के गुण पाये जाते हैं, जो सूजन और जलन को कम कर देते हैं| हल्दी वाला दूध Cancer cells द्वारा डीएनए को होने वाले नुकसान को रोकता हैं| कीमोथेरेपी से शरीर पर पढ़ने वाले बुरे प्रभावों को हल्दी का दूध पीने से कम किया जा सकता हैं|

8. अगर आप मोटापा घटाना चाहते हैं, तो हल्दी वाला दूध जरूर पियें| अधिकतर लोगो के अनुसार दूध पीने से मोटापा बढ़ता हैं, लेकिन हल्दी वाला दूध शरीर से वसा को कम करता हैं, जिससे आपका वजन कम हो जाता हैं।

9. कच्ची हल्दी का उबटन बनाकर शरीर की मालिश करने से शरीर में निखार आता हैं| भारत में इसीलिए शादी से पहले दुल्हन के शरीर पर हल्दी का उबटन लगाया जाता हैं, इस प्रथा का चलन वर्षो पहले से चल रहा हैं।

10. हल्दी दूध को आयुर्वेद के अनुसार सबसे बढ़िया रक्त शोधक माना गया हैं। हल्दी दूध Blood vessels की गन्दगी को साफ़ करके रक्त को पतला करता हैं| हल्दी वाला दूध पीने शरीर में Blood circulation ठीक प्रकार से होता हैं।

11. सर्दी झुकाम और खराश जैसी छोटी मोटी बीमारियों को हल्दी चुटकियो में ठीक कर देती हैं| हल्दी की तासीर गर्म होती हैं, इसीलिए गर्म दूध में हल्दी मिलाकर पीने से सर्दी झुकाम और खराश जल्दी ही ठीक हो जाती हैं|

12. अगर आप सुन्दर त्वचा पाना चाहते हैं, तो हल्दी वाला दूध जरूर पियें| अगर आपकी त्वचा पर लाल लाल चकते पड़ गए हैं, तो उन चकतों पर हल्दी वाले दूध को रुई से लगाये, इससे चकते ठीक हो जायेगे|

13. सरसो के तेल में हल्दी पाउडर और नमक मिलाकर दाँतो की मालिश करने से दाँत चमकने लगते हैं। पुराने ज़माने में ऐसा ही दाँतो का पीलापन दूर किया जाता था|

14. हल्दी वाले दूध में कैल्शियम अधिक मात्रा में पाया जाता हैं, जो हमारे शरीर को स्वस्थ और हड्डियों को मजबूती देने के लिए जरुरी होता हैं। ऑस्टियोपोरोसिस एक प्रकार का हड्डियों से जुड़ा रोग हैं| जो उन लोगो को होता हैं, जिनकी हड्डिया कमजोर होती हैं। शोध के अनुसार जो लोग रोज एक गिलास हल्दी वाला दूध पीते हैं, उन्हें ऑस्टियोपोरोसिस नहीं होता।

15. जिन लोगो को गठिया की बीमारी हैं, उनके लिए हल्दी लाभदायक हैं| हल्दी वाला दूध पीने से शरीर की मासपेशियो और जोड़ो में लचीलापन आता हैं, जिससे गठिया का दर्द कम हो जाता हैं। रियूमेटॉइड एक प्रकार की गठिया होती हैं, जिसे रियूमेटॉइड गठिया कहते हैं। हल्दी वाला दूध पीने से इस गठिया की सूजन कम हो जाती हैं|

16. कच्चे दूध में हल्दी पाउडर और बेसन मिलाकर त्वचा पर लगाने से त्वचा में निखार आता हैं| इससे बढ़ती उम्र के लक्षण कम हो जाते हैं|

17. पीरियड्स के दौरान अधिकतर महिलायों को दर्द होता हैं, अगर आप इस दर्द से छुटकारा पाना चाहते हैं, तो पीरियड्स के दौरान हल्दी वाला गर्म दूध पियें|

18. मुँह के छालो से परेशान हैं, तो हल्दी का ये देशी नुस्खा अपनाये। गर्म पानी में हल्दी पाउडर मिलाकर कुल्ला करने से मुँह के छाले ठीक हो जाते हैं।

19. हल्दी वाला दूध पीने से अनेक प्रकार के रोग ठीक हो जाते हैं। इसका कारण हैं, हल्दी में पाये जाने वाले ऐन्टी-ऑक्सीडेन्ट, जो मुक्त रैडिकल्स से लड़ने की क्षमता रखते हैं।

हल्दी के नुकसान (Haldi ke Nuksan)

1. मधुमेह के मरीज के लिए हल्दी का सेवन लाभकारी हैं, लेकिन अधिक हल्दी का सेवन मधुमेह में खतरनाक हो सकता हैं। हल्दी का अधिक सेवन करने से ब्लड शुगर की मात्रा बढ़ जाती हैं|

2. सर्दी खांसी होने पर लोग हल्दी वाला दूध पीते हैं, और ठीक हो जाते हैं| लेकिन आप जानते हैं, अधिक मात्रा में हल्दी का सेवन करने से आपके शरीर में खुजली और त्वचा रूखी हो सकती हैं| इसीलिए हल्दी का सेवन करे, लेकिन कम मात्रा में।

3. हल्दी अधिक गर्म होती हैं, इसीलिए गर्भवती महिलाओं को हल्दी वाला दूध या हल्दी का अधिक सेवन नहीं करना चाहिए| इसके अधिक सेवन से आपका गर्भ गिर सकता हैं|

4. भोजन में अधिक हल्दी डालने से अधिकतर लोगो को उल्टी आने लगती हैं।

5. हल्दी के अधिक सेवन से खाना खाने के बाद सिर में तेज दर्द होने लगता हैं।

6. हल्दी के अधिक सेवन से पेट में गैस बनने लगती हैं| इसके अधिक सेवन से गॉलब्लैडर में पथरी भी हो सकती हैं|

7. अगर आपका लिवर बढा हुआ हैं, और हल्दी वाले दूध का सेवन आपके लिए हानिकारक होगा।

8. सर्जरी के बाद अधिक हल्दी का सेवन ना करे| सर्जरी के बाद हल्दी के अधिक सेवन से ब्लड क्लॉटिंग की प्रॉब्लम होने लगती हैं|

9. अधिक मात्रा में हल्दी के सेवन से शरीर में आयरन की कमी होने लगती हैं|

दोस्तों आज हमने आपको अनेक प्रकार के गुणों से युक्त हल्दी (Turmeric in Hindi) के बारे में बताया। हल्दी के रोजाना इस्तेमाल के बाद भी अधिकतर लोग हल्दी के असंख्य गुणों से अनजान रहते हैं, ;लेकिन आज हमारी पोस्ट को पढ़कर आपको हल्दी के विशेष गुणों के बारे में पूरी जानकारी मिल गयी होगी। अगर आपके मन में कोई प्रश्न हैं, तो आप कमेंट करने अपने प्रश्न का जवाब हमने पूछ सकते हैं|

Disclaimer: All information are good but we are not a medical organization so use them with your own responsibility.

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!