HomeHealth Tips in Hindi

HIV एड़्स कैसे होता है | Hiv {AIDS} Kaise Hota Hai in Hindi

Read about Hiv Aids Kaise Hota Hai in Hindi Language : जानिए HIV कैसे होता है और एचआईवी वायरस से एड़्स कैसे होता है क्यूंकि एड़्स के बारे में सही जानकारी ही बचाव है यह खतरनाक बीमारी कई प्रकार से आपके शरीर में प्रवेश कर सकती है| आप सभी जानते है, कि Hiv Aids को विश्व की सबसे खतरनाक बीमारी माना जाता है| यह बीमारी मानव द्वारा की गयी कुछ गलतियों का ही परिणाम होती है, इसीलिए Hiv Aids को उपार्जित प्रतिरक्षा नाशक रोग कहते है| उपार्जित का अर्थ अपने ही कर्मो द्वारा उपजाया हुआ, अर्थात यह रोग हमारे द्वारा की गयी गलतियों के कारण ही होता है| (ये भी पढ़े – एचआईवी एड्स के लक्षण )

Hiv Aids Kaise Hota Hai in Hindi

इस रोग से बचने के लिए हमें इस रोग को पैदा करने वाली गलतियों के बारे में जानना होगा| हमें जानना होगा, कि हम ऐसा क्या ना करे कि इस रोग से हम बच सके| यह एक ऐसा रोग है, जिसका एकमात्र इलाज केवल बचाव है| बचाव के अलावा अभी तक Hiv Aids का कोई इलाज नहीं है| इसी कारण से रोजाना हजारो की संख्या में लोग गूगल पर Hiv Kaise Hota Hai in Hindi और Aids Kaise Hota Hai ये सब सर्च करे है, क्योंकि इसके होने के कारण जानकर ही हम खुद को इस बीमारी से बचा सकते है|

अगर आप भी गूगल पर Hiv Aids Ki Bimari Kaise Hoti Hai ये सर्च कर रहे है, तो यह पोस्ट जरूर पढ़े| इस पोस्ट में हम आपको सरल शब्दों में और विस्तार से एच आई वी एड्स कैसे होता है, इस बारे में बतायेगे| तो चलिए पोस्ट को आगे बढ़ाये और जाने Hiv Aids जैसी खतरनाक और जानलेवा बीमारी होने का कारण|

एड्स कैसे होता है (Aids Kaise Hota Hai in Hindi)

Hiv एक प्रकार का संक्रमित विषाणु है| इस संक्रमित विषाणु अर्थात Hiv की फुल फॉर्म Human Immunodeficiency Virus है| यह वायरस व्यक्ति के शरीर में जाकर उसके खून में मौजूद श्वेत रक्त कोशिकाओं में मिल जाता है| श्वेत रक्त कोशिकाओं को अंग्रेजी में White blood cells कहते है| श्वेत रक्त कोशिकाओं के माध्यम से यह वायरस व्यक्ति के डीएनए में चला जाता है|

इस स्थति में आकर वायरस टूटने लगता है और White blood cells पर आक्रमण शुरू कर देता है| धीरे धीरे वायरस का आक्रमण शरीर से सभी श्वेत रक्त कोशिकाओं को खत्म कर देता है| श्वेत रक्त कोशिकाओं के कम होने से शरीर की रोग प्रतिकारक क्षमता कम हो जाती है| Hiv वायरस को शरीर से श्वेत रक्त कोशिकाओं को खत्म करने में कम से कम 8 से 10 साल लग जाते है,इसे ऐसे भी कह सकते है, कि Hiv संक्रमण होने के बाद एड्स की बीमारी होने में 8 से 10 साल लग जाते है|

इस वायरस की सबसे खतरनाक बात यह है, कि यह वायरस शरीर में प्रवेश करने के बाद खत्म नहीं किया जा सकता है| अभी तक इस बीमारी का कोई भी इलाज संभव नहीं हो पाया है| बचाव ही, एड्स का इलाज है, इसीलिए इस बीमारी से खुद को बचाकर रखे| इस बीमारी का पता लगभग लास्ट स्टेज पर चलता है, क्योंकि सबसे पहले यह वायरस शरीर की रोग प्रतिकारक शमता को कम करता है, जिसके कारण व्यक्ति को सर्दी, खांसी, बुखार और झुकाम जैसी बीमारियों होती रहती है|

ये भी पढ़े – अपेंडिक्स के लक्षण
ये भी पढ़े – ब्लड प्रेशर का इलाज

इन बीमारियों पर अधिकतर लोग ध्यान नहीं देते और जब शरीर से अधिकतम श्वेत रक्त कोशिकाये खत्म हो जाती है, तब यह शरीर पर तेज अटैक करता है| यही कारण है, कि एड्स की बीमारी का पता चलने के बाद इससे पीड़ित व्यक्ति की दो से तीन सालो में ही मृत्यु हो जाती है| यह खतरनाक बीमारी भारत सहित पुरे विश्व में तेजी से बढ़ती चली जा रही है| इस बीमारी से बचने के लिए हमें एड्स होने के कारण या एड्स कैसे होता है, यह जानना जरुरी है|

एचआईवी एड्स होने का कारण (Hiv Kaise Hota Hai in Hindi)

1. अगर कोई औरत एचआईवी वायरस से संक्रमित है, तो उसे अपना दूध बच्चे को नहीं पिलाना चाहिए, क्योंकि एचआईवी का वायरस दूध के माध्यम से बच्चे के शरीर में प्रवेश कर जायेगा|

2. एचआईवी संक्रमित व्यक्ति के खून से यह बीमारी दूसरे लोगो में फैलती है, इसीलिए खून लेने से पहले खून की जांच जरूर कराये| बिना जांच किये कभी खून ना ले|

3. एचआईवी वायरस से संक्रमित व्यक्ति के साथ सम्बन्ध बनाने से यह इस वायरस के संक्रमण फैलता है, इसलिए ऐसा कभी ना करे|

4. यह बीमारी सिरिंज के माध्यम से भी फैलती है, इसीलिए डॉक्टर के पास जाते समय ध्यान रखे, कि वह आपको पुरानी सिरिंज ना लगा दे|

5. अगर आप नाई की दुकान पर सेव कराने जाते है, तो उससे नया ब्लेड इस्तेमाल करने को कहे| एचआईवी संक्रमित व्यक्ति द्वारा इस्तेमाल गए ब्लेड के माध्यम से भी यह बीमारी फैलती है|

एचआईवी एड्स कैसे नहीं होता (Hiv Aids Kaise Nahi Hota)

1. यह बीमारी एचआईवी संक्रमित व्यक्ति के बर्तन और कपडे इस्तेमाल करने से भी नहीं फैलता|

2. इस बीमारी का संक्रमण खाँसने और छींकने से नहीं फैलता|

3. एचआईवी संक्रमित व्यक्ति को किस करने, गले लगाने और हाथ मिलाने से भी यह बीमारी नहीं फैलती|

4. एचआईवी संक्रमित व्यक्ति के साथ खाना खाने और रहने से यह संक्रमण नहीं फैलता|

एड्स से बचाव (Aids Ki Bimari Se Kaise Bacha Ja Sakta Hai)

1. सिरिंज लगवाते समय हमेशा नयी सिरिंज ही लगवाए|

2. खुद के और अपने हमसफ़र के प्रति हमेशा वफादार रहे|

3. दाढ़ी बनाने के लिए दुकानवाले को नया ब्लेड इस्तेमाल करने को कहे|

4. खून लेने से पहले खून की डॉक्टरी जांच जरूर करा ले|

ये भी पढ़े – सांस फूलने का इलाज
ये भी पढ़े – नसों में दर्द का इलाज

इस पोस्ट में आपने Aids Ki Bimari Kaise Hoti Hai इसके बारे में जाना| यह बीमारी जानलेवा है और इसका कोई इलाज भी नहीं है, इसीलिए इस बीमारी के होने के कारण जानकर इनसे बचाव करे| आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी, इसके बारे में हमें जरूर बताये| अगर आपके मन में इस पोस्ट से जुड़ा कोई भी सवाल है, तो अपना सवाल कमेंट के माध्यम से हमसे पूछे|

Disclaimer: All information are good but we are not a medical organization so use them with your own responsibility.

loading...

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × three =

error: Content is protected !!