HomeHealth Tips in Hindi

7 दिन में शीघ्रपतन का इलाज करने की आसान घरेलू दवा

पुरुष का जल्दी वीर्य निकल जाना ही शीघ्रपतन कहलाता है और शीघ्रपतन का इलाज (Shighrapatan Ka Ilaj) करने के लिए हमारे आयुर्वेद में कई घरेलू दवा बताई गयी हैं| आप घर पर ही इन देसी दवाओं को बनाकर उनका सेवन कर सकते हैं और सबसे ख़ास बात यह है कि इन घरेलू दवाइयों का कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होता, ये 100% प्राकृतिक हैं|

Shighrapatan Ka Ilaj

शीघ्रपतन (Shighrapatan) को अंग्रेजी में Premature Ejaculation और सामान्य बोलचाल की भाषा में कुछ लोग early discharge कहते है| पुरुषों में होने वाली यह सामान्य यौन समस्या है और विश्व के 30 से 40 % लोग इस समस्या से परेशान है| अमेरिका में राष्ट्रीय स्वास्थ्य और सामाजिक जीवन सर्वेक्षण के अनुसार वहां के 30 % वयस्क पुरुष शीघ्रपतन (Shighrapatan) की समस्या के शिकार है| इसके साथ ही अपने पुरे जीवनकाल में कभी ना कभी पुरुष इस समस्या की चपेट में आते है|

शीघ्रपतन (Shighrapatan in Hindi)

यौन सम्बन्ध बनाने से तुरंत पहले या यौन सम्बन्ध बनाने के तुरंत बाद वीर्य का अनियंत्रित रूप से स्खलित होना शीघ्रपतन अर्थात समयपूर्व स्खलन कहलाता है| शीघ्रपतन किसी प्रकार की कोई बीमारी नहीं है, लेकिन अगर यह समस्या लम्बे समय तक आपको अपना शिकार बनाये रखती है, तो इसका आपके जीवन पर बहुत अधिक नकारात्मक असर होता है|

शीघ्रपतन के कारण एक ओर आपके यौन जीवन पर बुरा असर पड़ता है, तो दूसरी तरह इसके कारण आपके साथी के साथ रिश्ते खराब हो जाते है| शीघ्रपतन के कारण अधिकतर युवा मानसिक तनाव के शिकार हो जाते है और ये उनके आत्मविश्वास को भी पूरी तरह खत्म कर देता है| अधिकतर लोग शीघ्रपतन का इलाज करने के लिए शीघ्रपतन की दवा या मेडिसिन का इस्तेमाल करते है, लेकिन ये सभी चीजे हेल्थ के लिए हानिकारक हो सकती है और इनके इस्तेमाल से शीघ्रपतन का परमानेंट इलाज नहीं हो पाता|

अगर आप शीघ्रपतन का इलाज खोज रहे है, तो निचे दिए गए शीघ्रपतन के इलाज के घरेलू, देशी और आयुर्वेदिक नुस्खों को अपनाएं| इस पोस्ट में हम आपको shighrapatan ka ayurvedic ilaj और shigrapatan ke gharelu upay dawa के बारे में बता रहे है| तो चलिए जाने शीघ्रपतन का इलाज बिना दवा घर पर कैसे करे|

शीघ्रपतन होने के कारण (Shighrapatan Ke Karan in Hindi)

  • शरीर में अधिक मात्रा में वीर्य और रक्त का बनना
  • शरीर में वीर्य की मात्रा कम होना
  • शारीरिक और मानसिक बीमारी या कमजोरी
  • वीर्य-नली में ढ़ीलापन या सुस्ती आना
  • शरीर में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की कमी होना
  • नशीली चीजों का अधिक सेवन करना
  • मूत्रमार्ग या प्रोटेस्ट में संक्रमण या सूजन
  • वीर्यवर्धक दवाइयों का सेवन करना
  • डायबिटीज की बीमारी होने पर
  • अधिक मानसिक तनाव में रहना
  • अनुवांशिक

शीघ्रपतन का घरेलू इलाज (Shighrapatan Ke Gharelu Upay in Hindi)

अदरक (Ginger) – अदरक शीघ्रपतन के इलाज की अचूक घरेलू दवा है| इसके सेवन से लिंग में रक्त संचार तेजी से बढ़ता है, जिसके कारण शीघ्रपतन की समस्या को काफी हद तक कण्ट्रोल किया जा सकता है| रोजाना रात को सोने से पहले शहद में एक चम्मच अदरक का पेस्ट मिलाकर चाटे| कुछ दिनों तक रोजाना इस नुस्खे के सेवन से शीघ्रपतन की समस्या कण्ट्रोल हो जाएगी|

प्याज (Onion) – प्याज का सेवन सभी प्रकार की यौन समस्याओं के इलाज में असरकारी माना जाता है| प्याज हर किसी के घर में आसानी से मिल जाता है, ऐसे में शीघ्रपतन के इलाज का यह सबसे आसान उपाय है| घर में इस्तेमाल किये जाने वाले सामान्य प्याज के साथ साथ हरी प्याज भी इस बीमारी के इलाज में लाभकारी है|

प्याज के बीजों में कामोद्दीपक गुण पाया जाता है, जिसके कारण यह शीघ्रपतन की समस्या से निजात दिलाने में सहायक है| खाना खाने से पहले रोजाना दिन में तीन बार एक गिलास पानी में प्याज के बीज का पाउडर मिलाकर खाने से कुछ ही दिनों में शीघ्रपतन की समस्या से छुटकारा मिल जाता है|

अरंडी का तेल (Castor oil) – लिंग की कमजोरी के कारण भी शीघ्रपतन की समस्या होती है| शीघ्रपतन की समस्या से छुटकारा पाने और लिंग की कमजोरी दूर करने के लिए लिंग के ऊपरी हिस्से की अरंडी के तेल से मालिश करे|

भिंडी (Ladyfinger) – भिंडी का पाउडर शीघ्रपतन की समस्या का रामबाण इलाज है| रोज रात को सोने से पहले एक गिलास दूध में दस ग्राम भिंडी का पाउडर घोलकर पीने से आपको अपने आप फर्क नजर आएगा| इस नुस्खे का असर धीरे धीरे होता है, इसीलियें करीब एक महीने तक इस नुस्खे को जरुर आजमायें|

लहसुन (Garlic) – लहसुन के सेवन से लिंग में रक्त संचार तेजी से बढ़ता है, इस प्रकार इसका सेवन सभी प्रकार की यौन समस्याओं के इलाज में लाभकारी है| शीघ्रपतन की समस्या से ग्रसित लोगो के लिए लहसुन जड़ी बूटी की तरह काम करता है| शीघ्रपतन की समस्या से पूरी तरह छुटकारा पाने के लिए रोजाना कुछ दिनों तक दो से तीन लहसुन की कलियों को कच्चा चबाकर खाएं|

शीघ्रपतन का आयुर्वेदिक इलाज (Shighrapatan Ka Ayurvedic Ilaj aur Dawa in Hindi)

छुहारा (Chuhara) – छुहारा खाने से वीर्य में गाढ़ापन आता है और वीर्य जल्दी नहीं निकलता| अगर आप शीघ्रपतन की समस्या के शिकार है, तो रोजाना दूध में भिगोएं छुहारे खाएं| छुहारे दूध में मिलाकर खाने से छुहारे के गुण और बढ़ जाते है|

जामुन (Blackberry) – जामुन की गुठली का सेवन शीघ्रपतन के इलाज में लाभकारी है| जामुन की गुठली को सुखाकर बारीक़ पाउडर तैयार कर ले| अब सुबह शाम रोजाना कुछ दिनों तक इस पाउडर का सेवन गर्म दूध के साथ करे|

मूसली पाक (Musli Pak) – अगर आप आयुर्वेदिक दवा के माध्यम से शीघ्रपतन का इलाज करना चाहते है, तो बाबा रामदेव की मूसली पाक का सेवन करे| यह शीघ्रपतन के उपचार की सबसे अच्छी आयुर्वेदिक दवा है| इस दवा के सेवन से मर्दाना कमजोरी दूर होती है, सम्भोग का समय बढ़ता है और वीर्य गाढ़ा हो जाता है| इन सभी के कारण शीघ्रपतन की समस्या से छुटकारा मिलता है|

अश्वगंधा (Ashwagandha) – अश्वगंधा शीघ्रपतन के इलाज की सबसे अच्छी आयुर्वेदिक दवा है| इसके सेवन से शारीरिक कमजोरी दूर होती है, सभी यौन समस्याओं का निवारण होता है और शरीर में ताकत आती है| यौन समस्याओं के इलाज के लिए अश्वगंधा जड़ी बूटी की तरह इस्तेमाल की जाती है| मार्किट में अश्वगंधा चूर्ण और अश्वगंधा कैप्सूल आसानी से मिल जाती है, लेकिन इसके इस्तेमाल से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर ले|

इसबगोल (Isabgol) – इसबगोल का सेवन शीघ्रपतन के इलाज में लाभकारी है| 5 ग्राम इसबगोल की बराबर मात्रा में खसखस और मिश्री मिलाकर इन्हे कूटकर बराबर पाउडर बना ले| अब इस पाउडर का सेवन रोजाना सुबह शाम दूध के साथ करे|

शीतलचीनी – शीतलचीनी के चूर्ण के इस्तेमाल से भी शीघ्रपतन को आसानी से कम किया जा सकता है| शीघ्रपतन से छुटकारा पाने के लिए रोजाना सुबह शाम एक हफ्ते तक पानी के साथ आधा चम्मच शीतलचीनी चूर्ण का सेवन करे|

किशमिश (Raisins) – 40 ग्राम किशमिश को अच्छी तरह पानी से धोकर 250 ग्राम दूध में डालकर उबाल ले| अब इस दूध को ठंडा करके पी जाएँ और किशमिश को चबाकर खाएं| तीन में तीन बार इसका सेवन कुछ दिनों तक लगातार करने से शीघ्रपतन की समस्या दूर हो जायेगी| अगर आपको किशमिश के सेवन से किसी भी प्रकार की परेशानी हो, तो किशमिश का सेवन करना बंद कर दे|

जायफल पाउडर (Nutmeg Powder) – अगर आप शीघ्रपतन के इलाज की देशी दवा खोज रहे है, जायफल पाउडर का इस्तेमाल लाभकारी है| दूध में जायफल पाउडर के साथ इलाइची पाउडर, भीगे बादाम का पेस्ट , सौंठ पाउडर और केसर मिलाकर उबाले| अब इस प्रकार तैयार एक गिलास दूध का सेवन रोजाना सोने से पहले करे|

इस पोस्ट में आपने शीघ्रपतन का इलाज करने के घरेलू नुस्खे और आयुर्वेदिक दवा के बारे में जाना| शीघ्रपतन कोई बड़ी बीमारी नहीं है, लेकिन समय से इसका उपचार ना किया जाये, तो इसके कारण आपकी लाइफ पूरी तरह प्रभावित हो सकती है| ऐसे में Shighrapatan Ka Ilaj के ये घरेलू नुस्खे अपनाकर आप इस बीमारी को पूरी तरह कण्ट्रोल कर सकते है| आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी, इसके बारे में हमें कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं|

Disclaimer: All information are good but we are not a medical organization so use them with your own responsibility.

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eight + sixteen =

error: Content is protected !!