HomeHealth Tips in Hindi

जानें 12 शुगर के लक्षण और शुगर का घरेलू इलाज

मधुमेह या शुगर के लक्षण, परहेज, घरेलू इलाज

आज हम आपको शुगर के लक्षण और शुगर का घरेलू इलाज कैसे करे इसे बारे में विस्तार से जानकारी देंगे| पुराने ज़माने में शुगर की बीमारी किसी किसी को होती थी, लेकिन आज यह बीमारी तेजी से फैल रही हैं| शुगर की बीमारी किसी की किडनी खराब कर देती हैं, तो किसी का लिवर| शुगर का सबसे बड़ा कारण हमारा खान पान और गलत जीवन शैली हैं|

शुगर के लक्षण

शुगर को मधुमेह और डायबिटीज भी कहते हैं| डायबिटीज होने पर हमारे खून में शुगर का लेवल बढ़ जाता हैं| अभी तक ऐसा कोई उपाय नहीं मिला, जिसे शुगर की की बीमारी को जड़ से खत्म किया जा सके, लेकिन अगर हम अपने खून में सुगर कंट्रोल करके रखे, तो हम सामान्य लोगो की तरह जीवन जी सकते हैं|

डायबिटीज दो प्रकार की होती है, Type 1 diabetes और Type 2 diabetes. Type 1 diabetes में हमारे शरीर में हमारे शरीर में इन्सुलिन बनना बंद हो जाता हैं, और Type 2 diabetes में शरीर में जरुरत के हिसाब से इन्सुलिन नहीं बन पाता, और जो थोड़ा बहुत इन्सुलिन बनता हैं, वह किसी काम का नहीं होता| शुगर एक सामान्य बीमारी हैं, लेकिन तब जब आप इसमें खून में शुगर की मात्रा को कण्ट्रोल करके रखे|

अगर आप ऐसा नहीं करते, तो ये बीमारी आपके लिए जानलेवा हो सकती हैं| आज अपनी पोस्ट में हम आपको शुगर कम करने के उपाय और शुगर का घरेलू इलाज कैसे करे, इस बारे में बतायेगे| सुगर कंट्रोल करने के लिए आपको ज्यादा कुछ नहीं करना, लेकिन अपने खान पान और अनियमित जीवन शैली में थोड़ा सा सुधार करना हैं| तो चलिए जाने शुगर की बीमारी का इलाज अर्थात सुगर कंट्रोल कैसे करे इस बारे में विस्तार से जाने|

शुगर के लक्षण (Diabetes Ke Lakshan in Hindi)

1. प्यास बहुत ज्यादा लगना
2. किसी भी काम को करने में जल्दी थकान होना
3. पेशाब जल्दी जल्दी आना
4. आँखों से धुंदला नजर आना
5. बिना कारण वजन कम होना
6. घाव देर से भरना|

शुगर होने के कारण (Causes of Diabetes)

1. अधिक मोटापा
2. मीठी चीजे अधिक खाना
3. अधिक तनाव में रहना
4. समय से भोजन ना करना
5. शरीर में इंसुलिन हार्मोन का अनबैलेंस होना
6. आनुवांशिक

शुगर का घरेलू इलाज (Diabetes Ke Gharelu Nuskhe)

1. करेला (Bitter gourd) – मधुमेह का आयुर्वेदिक इलाज करेला द्वारा भी किया जाता हैं| करेले के सेवन से रक्त में शुगर की मात्रा कण्ट्रोल में रहती हैं, अर्थात करेला खाने से सुगर कंट्रोल में रहती हैं| करेला हमारे पुरे शरीर के Glucose Metabolism को प्रभावित करता हैं, जिससे शरीर में ब्लड ग्लूकोज़ का लेवल कम हो जाता हैं| इसके अतरिक्त करेला शरीर में इंसुलिन प्रतिरोध (Insulin Resistance) को कम करके Pancreatic insulin secretion को बढ़ा देता हैं|

इस प्रकार करेला खाने से टाइप 1 और टाइप 2 दोनों प्रकार की शुगर में आराम मिलता हैं| शुगर होने पर रोजाना सुबह खाली पेट एक गिलास करेले का जूस पियें| यह घरेलू नुस्खा कम से कम 2 महीने तक लगातार अपनाये| करेले की सब्जी और करेले का अचार बना कर भी खाये|

2. जामुन (Blackberry) – जामुन में विशेष प्रकार के तत्व पायें जाते हैं, ये तत्व खून में शुगर के लेवल को कम करके रखते हैं| जिससे आसानी से मधुमेह को कण्ट्रोल किया जा सकता हैं| जामुन का गुदा ही नहीं, इसकी गुठली और पत्ते भी शुगर के मरीज के लिए लाभदायक हैं| जामुन आसानी से मार्किट में मिल जाती हैं, इसीलिए शुगर के मरीज विशेष रूप से इसे जरूर खाये| जामुन की गुठली को सुखाकर इसका पाउडर बना ले, अब इस पाउडर का पानी के साथ दिन में दो बार सेवन करे|

3. मेथी (Fenugreek) – Hypoglycemia गुण पाये जाने के कारण मेथी के सेवन से ब्लड शुगर लेवल कम रहता हैं, जिससे शुगर को काफी हद तक कण्ट्रोल किया जा सकता हैं| शुगर होने पर रोजाना दो चम्मच मेथी पाउडर को एक गिलास दूध में मिलाकर पियें| इसके अलावा रात को दो चम्मच मेथी के दाने साफ़ पानी में भिगोकर रखे| सुबह खाली पेट इन दानो को चबाकर खाये, और बचे पानी को ऊपर से पी ले| शुगर का इलाज करने में ये देशी नुस्खा बहुत कारगर हैं|

4. एलोवेरा (Aloe vera) – एलोवेरा का रोजाना सेवन करने से कुछ ही दिनों में शुगर कण्ट्रोल हो जाती हैं| शुगर कण्ट्रोल करने के लिए रोजाना एलोवेरा जूस पियें, यह आसानी से मार्किट में उपलब्ध हैं| रात को सोने से पहले एलोवेरा के पत्तो को साफ पानी में भिगोकर रखे और सुबह खाली पेट इस पानी को पियें| इससे भी सुगर कंट्रोल होती हैं| एलोवेरा के पत्तो को छीलकर इसका गुदा भी खा सकते हैं|

5. दालचीनी (Cinnamon) – दालचीनी में सुगर कंट्रोल करने का गुण होता हैं| इसके अतरिक्त दालचीनी में विशेष प्रकार के तत्व पाये जाते हैं, ये तत्व खून में शुगर के लेवल को बढ़ने से रोकते हैं| एक शोध के अनुसार टाइप 2 डायबिटीज कण्ट्रोल करने का यह सबसे बढ़िया घरेलू उपाय हैं|

शुगर होने पर रोजाना एक कप हल्के गर्म पानी में आधा चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर पियें| इसके अलावा एक गिलास पानी में दालचीनी की लकड़ी के चार टुकड़े डालकर आधे घंटे तब उबाले और अब इसे चाय की तरह धीरे धीरे पियें| ध्यान रहे, दालचीनी का सेवन अधिक मात्रा में ना करे| अधिक मात्रा में इसका सेवन आपका लिवर खराब कर सकता हैं|

6. आम के पत्ते (Mango leaves) – आम के पत्ते जिन्हे लोग बेकार समझते हैं, वो भी शुगर के इलाज में इस्तेमाल किये जाते हैं| पुराने ज़माने में आम के पत्तो को शुगर ठीक करने की आयुर्वेदिक दवा माना जाता था| रात को सोने से पहले आम की ताज़ी 8 से 10 कोपलों को साफ़ पानी में धुलकर पिने के पानी में भिगोकर रख दे| सुबह खाली पेट शुगर के मरीज इस पानी को पियें| आम के पत्तो को सुखाकर इसका पाउडर बनाकर इस्तेमाल करना भी फायदेमंद हैं|

7. अमरूद (Guava) – फाइबर और विटामिन सी की अधिक मात्रा के कारण अमरुद शुगर कण्ट्रोल करने में सहायक हैं| अमरुद आसानी से मिलने वाला फल हैं, इसीलिए इसका सेवन जरूर करे| अमरुद खाने शरीर को एनर्जी मिलती हैं, और खून में शुगर भी कण्ट्रोल में रहती हैं|

8. आंवला (Gooseberry) – आंवले के सेवन से भी शुगर के रोगी को बहुत आराम मिलता हैं| शुगर के मरीज आंवले का जूस सुबह खाली पेट पानी में डालकर पियें| आंवले का जूस मार्किट में आसानी से मिल जाता हैं, लेकिन अगर आप इसका जूस घर पर निकाल कर इस्तेमाल करेगी तो अधिक फायदा होगा| आंवले का जूस आप करेले के जूस के साथ मिलाकर भी पी सकती हैं|

9. गेहूँ के ज्वारे (Wheatgrass) – गेहूँ के ज्वारे एक आयुर्वेदिक औषधी हैं, जिसके द्वारा अनेक प्रकार के रोगो का इलाज किया जाता हैं| गेहूँ बोने के 8 से 10 दिनों बाद जो छोटी छोटी पत्तिया निकलती हैं, उन्हें ही गेहूँ के ज्वारे कहते हैं| इन गेहूँ के ज्वारे को काटकर इनका जूस भी बनाया जाता हैं, जो शरीर से अनेक बीमारियों को दूर कर देता हैं| शुगर कण्ट्रोल करने के लिए भी Wheatgrass का सेवन करना लाभकारी हैं|

10. करी पत्ता (Curry leaf) – शोध के अनुसार करी पत्ता में शुगर कम करने का गुण होता हैं| शुगर के मरीज दिन में दो से तीन बार 5 से 6 करी पत्ते को चबाकर खाये|
करी पत्ता खाने से मोटापा और हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल भी कण्ट्रोल में रहता हैं|

11. पपीता (Papaya) – पपीता शुगर के मरीज के लिए बढ़िया फल हैं| पपीता खाने से बढ़ी रक्त-शर्करा कम हो जाती हैं| शुगर के रोग के कारण कई लोगो की किडनी खराब हो जाती हैं, और कई लोग समय से पहले बूढ़े हो जाती हैं| पपीते में पपाइन और कैरोटीन नामक एंजाइम पायें जाते हैं, ये शुगर के इस प्रकार के दुष्परिणामो से बचाते हैं|

12. सेब (Apple) – शुगर के मरीज के लिए सब सबसे अच्छा फल हैं| अधिकतर लोग सेब को भी छिलके खाते हैं, लेकिन ऐसा ना करे| सेब को हमेशा छिलके सहित खाये, क्योंकि सेब के गुद्दे से अधिक एंटी ऑक्सीडेंट सेब के छिलके में पाएं जाते हैं| Apple एक प्रकार का रसायन हैं| यह रसायन सेब में भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं| यह रसायन रक्त-शर्करा को 50 % तक कम कर देता हैं|

शुगर में परहेज (Avoiding sugar)

1. शुगर के मरीज को चीनी, गुड़, गन्ना, चॉकलेट, शहद जैसी मीठी चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए|

2. शकरकंद, आलू कटहल , जिमिकंद जैसी चीजे शुगर को जल्दी बढ़ा देती हैं, इसीलिए इन्हे खाने से बचे| अगर आप खाना ही चाहते हैं, तो कभी कभी इन्हे उबाल कर खा सकते हैं|

3. पूरी, पराठे जैसी तली चीजे ना खाये|

4. हाई ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाली चीजे जल्दी ग्लूकोज में बदल जाती हैं, इसीलिए ऐसी चीजों को ना खाये|

5. मक्के के आटे और मैदा से बनी चीजे ना खाये|

6. जूस में अधिक मात्रा में शुगर होती हैं, इसीलिए किसी भी फल का जूस ना पियें| आप सीधे फल खा सकते हैं|

7. चावलों को मांड निकाले बिना खाये| अधिकतर लोग सफ़ेद चावल खाते हैं, लेकिन ब्राउन चावल खाना अधिक लाभकारी हैं|

8. चीजी की जगह मीठे में गुड़ का इस्तेमाल करना चाहिए|

9. रोजाना योगा और व्यायाम करे|

दोस्तों आज हमने आपको अपनी पोस्ट में शुगर के लक्षण, शुगर में परहेज और शुगर का घरेलू इलाज करने के आसान देशी नुस्खे बनाये| आपको हमारी पोस्ट से प्राप्त जानकारी कैसी लगी, हमें जरूर बताये| अगर आप हमने कोई भी सवाल पूछना चाहते हैं, तो पोस्ट के निचे बने कमेंट बॉक्स में कमेंट करके सीधा अपना सवाल हमसे पूछ सकते हैं|

Disclaimer: All information are good but we are not a medical organization so use them with your own responsibility.

Loading...

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

10 + eleven =

error: Content is protected !!