HomeHealth Tips in Hindi

विटामिन डी के स्रोत : Vitamin D Fruits and Vegetables List in Hindi

अधिकतर लोग केवल ये जानते है, कि विटामिन डी से केवल शरीर की हड्डिया मजबूत होती है, लेकिन ऐसा बिलकुल नहीं है| हड्डिया मजबूत करने के साथ साथ विटामिन डी हमारे इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने का काम भी करता है| इसके साथ ही विटामिन डी लवणों और अन्य सभी विटामिन को सक्रीय भी करता है| इस प्रकार शरीर के लिए विटामिन डी बहुत उपयोगी है|

Vitamin D Fruits And Vegetables List in Hindi

अगर शरीर में विटामिन डी की कमी हो जाएँ तो हड्डिया मुलायम और कमजोर होकर आसानी से टूटने लगती है| विटामिन डी की कमी के कारण बोन कैंसर सहित अनेक कई बीमारियों के होने की आशंका बढ़ जाती है| विटामिन डी की कमी से शरीर की पूरी एनर्जी धीरे धीरे खत्म होने लगती है| हम आपको विटामिन डी से युक्त कुछ फलो और सब्जियों के बारे में बताने जा रहे है, जिनके सेवन से आपको विटामिन डी की कमी से छुटकारा मिलेगा| अगर आप बचपन से इन फलो और सब्जियों का सेवन करते है, तो आपके शरीर में कभी विटामिन डी की कमी नहीं होगी|

विटामिन डी युक्त फल और सब्जिया (Vitamin D Fruits And Vegetables List in Hindi)

1. मछली (Fish) – अगर आप नॉन वेज खाते है, तो विटामिन डी की कमी पूरा करने के लिए मछली सबसे अच्छा माध्यम है| मछली में विटामिन डी अधिक मात्रा में खाया जाता है, इसीलिए यह शरीर में विटामिन डी की कमी की पूर्ति करता है| अगर आपको हार्ट की प्रॉब्लम है, तो भी आप मछली का सेवन करे| मछली में अधिक मात्रा में फैटी एसिड पाए जाते है, जो हार्ट के लिए बहुत लाभकारी होते है| मछलियों में ट्यूना, हिलसा और सैमन प्रजाति की मछलियों में
विटामिन डी अधिक मात्रा में पाया जाता है|

2. अनाज (Grain) – जो लोग नॉन वेज नहीं खाते, वो अपने आहार में साबुत अनाज शामिल करके शरीर से विटामिन डी की कमी को दूर कर सकते है| विटामिन डी की पूर्ति के लिए दलिया, चावल और गेंहू को अपनी डाइट में जरूर शामिल करे|

3. फोर्टिफाइड फूड्स (Fortified Foods) – दूध, दही, ब्रेड, पनीर और सोया मिल्क विटामिन डी युक्त फोर्टिफाइड फूड्स है| इन फूड्स को अपनी डेली डाइट में शामिल करके आप अपने शरीर से विटामिन डी की कमी की पूर्ति कर सकते है| ये फ्रूट्स आसानी से दुकानों पर मिल जाते है|

4. संतरे के रस (Orange Juice) – संतरा विटामिन डी का अच्छा स्त्रोत है, इसीलिए विटामिन डी की पूर्ति के लिए रोजाना सुबह शाम एक गिलास संतरे का
जूस पियें|

5. ऑइस्टर (Oyster) – ऑइस्टर में विटामिन डी के अलावा अनेक प्रकार के पोषक तत्व होते है| जो आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत उपयोगी होते है, इसीलिए अपने आहार में ऑइस्टर को शामिल जरूर करे|

6. अंडा (Egg) – अगर आप कम समय में विटामिन डी की कमी दूर करना चाहते है, तो रोजाना सुबह नास्ते में अंडा खाएं| अंडे के अंदर के पीले भाग में भरपूर मात्रा में विटामिन डी पाया जाता है, जो कम समय में विटामिन डी की कमी की पूर्ति करता है|

7. मशरूम (Mushroom) – मशरूम में विटामिन डी के साथ साथ बी5 विटामिन भी अधिक मात्रा में होता है, इसीलिए अगर आप विटामिन डी की कमी दूर करना चाहती है, तो अपनी डाइट में मशरूम जरूर शामिल करे| मशरूम को हल्का पकाकर खाने से अधिक लाभ होगा|

8. कॉड लिवर तेल (Cod Liver Oil) – कॉड लिवर आयल में विटामिन डी की अधिक मात्रा होती है, इसीलिए इसके रोजाना इस्तेमाल से शरीर से विटामिन डी की कमी दूर हो जाती है|

9. डेयरी प्रोडक्ट (Dairy Product) – दूध से बनी चीजे जैसे पनीर, दही, मक्खन आदि ये डेयरी प्रोडक्ट में आती है| इन डेयरी प्रोडक्ट में विटामिन डी और कैल्शियम की अधिक मात्रा होती है| रोजाना इन प्रोडक्ट्स आहार में शामिल करने से विटामिन डी और कैल्शियम की कमी दूर हो जाती है|

10. गाजर (Carrot) – गाजर विटामिन डी का अच्छा स्त्रोत है| अगर आपके शरीर में विटामिन डी की कमी है, या आप चाहते है, कि कभी आपके शरीर में विटामिन डी की कमी ना हो, तो रोजाना गाजर खाये| गाजर खाने से शरीर में विटामिन डी की कमी दूर होती है, इसके साथ ही गाजर से शरीर में खून भी बढ़ता है| गाजर को कच्चा खाना या इसका जूस बनाकर पीना अधिक लाभदायक है|

11. टैबलेट (Tablet) – आजकल मार्किट में विटामिन डी की टैबलेट भी उपलब्ध है| विटामिन डी की कमी की पूर्ति के लिए आप इन टैबलेट का इस्तेमाल कर सकते है| ध्यान रहे आपके शरीर में किस मात्रा में विटामिन डी की कमी है, इस आधार पर ही टैबलेट ली जानी चाहियें, इसीलिए बिना डॉक्टर की सलाह के इन टैबलेट का सेवन ना करे|

आज हमने आपको विटामिन डी युक्त फलो और सब्जियों के बारे में जानकारी दी| आपको हमारी ये जानकारी कैसी लगी, हमें कमेंट करके जरूर बताएं| कमेंट करने के लिए पोस्ट के नीचे बने कमेंट बॉक्स को फॉलो करे|

Disclaimer: All information are good but we are not a medical organization so use them with your own responsibility.

Comments (2)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × 2 =

error: Content is protected !!