HomeHealth Tips in Hindi

Amla ke Fayde – आंवला के स्वास्थ्यवर्धक फायदे

Amla ke Upyog and Fayde

आवंला (Gooseberry) में अनेक गुण (Property) पाए जाते है। यही कारण (reason) है कि पुराने ज़माने से आवंले (Gooseberry) का इस्तेमाल (Used) किया जाता है। त्वचा सम्बन्धी समस्या (Skin Problem) हो, या बालो सम्बन्धी (Hair Related) , आँखो की रौशनी (Eyesight) कम हो गयी हो, या आपको भूख कम (Decreased appetite) लगती है। आवंला (Gooseberry) हर बीमारी (Disease) को जड़ से ख़त्म (Over) कर देता है। आवंले (Gooseberry) को आप अनेक तरीको (Methods) से खा सकते है। आप आवंले (Gooseberry) को कच्चा खा सकते है। आवंले (Gooseberry) की सब्जी बना कर खा सकते है। आवंले (Gooseberry) को सुखाकर उसका पाउडर (Powder) बना कर खा सकते है। आवंले (Gooseberry) का मुरब्बा (Marmalade) बना सकते है।

Health Benefits of Gooseberry (Amla)

आवंले (Gooseberry) को खाने (Eat) के अनेक तरीके (Many Ways) है, और आवंला (Gooseberry) चाहे किसी भी रूप में खाया जाये, यह हमारे शरीर (Body) को फायदे (Benefits) ही देता है। आवंले (Gooseberry) का इस्तेमाल (Used) अनेक प्रकार की दवाई (Medicine) बनाने में भी किया जाता है, यही कारण (Reason) है कि आयुर्वेद (Ayurveda) में भी आवंले (Gooseberry) को ऊँचा स्थान दिया गया है। आज हम आपके आवंले (Gooseberry) के चमत्कारी गुणों (Miraculous properties) और आवंला (Gooseberry) खाने से होने वाले फायदों (Benefits) के बारे में बतायेगे।

 

आवंले के फायदे – Benefits of Gooseberry – Amala Ke Fayde

1. आवंले (Gooseberry) का सेवन (Consumption) करने से जोड़ो का दर्द (Joint Pain), गठिया (Arthritis), और सूजन (swelling) में में आराम (rest) मिलता है।

2. बालो (Hair) को सुन्दर (Beautiful), चमकदार (Bright) और मजबूत (strong) बनाने के लिए केरोटीन (Carotene) नामक प्रोटीन (Protein) की जरूर होती है, जोकि आवंले (Gooseberry) में पाया जाता है। इसीलिए आवंले (Gooseberry) का रोजाना सेवन (Daily intake) करना चाहिए। आवंला(Gooseberry) बालो (Hair) को जड़ो से मजबूत (strong) बनाये रखता है, और बालो (Hair) को प्राकृतिक रूप से काला (Naturally black) बनाये रखता है।

3. मोटापे (Obesity) से परेशान (worried) लोगो के लिए आवंले (Gooseberry) का सेवन (Consumption) फायदेमंद (Beneficial) है। आवंला (Gooseberry) शरीर (Body) में जमी अतरिक्त वसा (Excess fat) को हटाकर, शरीर (Body) में कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) के स्तर (Level) को कम कर देता है।

4. रोजाना आवंला (Gooseberry) खाने (Eat) से पाचन किर्या (Digestion process) मजबूत (strong) होती है, और खाना (Eat) अच्छे से पचता (Digested) है।

5. मधमेह (Diabetes) के मरीज (patient) के लिये आवंला (Gooseberry) एक रामबाण औषधि (Medicine) है। जिसके सेवन से मधमेह (Diabetes) को आसानी से कण्ट्रोल किया जा सकता है। मधमेह (Diabetes) के मरीज (patient) को आवंले (Gooseberry), करेले (Gourd) और जामुन (जामुन ) का पाउडर बराबर मात्रा में मिलाकर एक चम्म्च रोजाना खाना चाहिए। आवंले (Gooseberry) के पाउडर में हल्दी पाउडर (Turmeric powder) मिलाकर रोजाना सेवन करने से भी मधमेह (Diabetes) के रोगी (patient) को आराम मिलता है।

6. रोजाना सुबह खाली पेट आवंले (Gooseberry) का जूस पीने से, शरीर (body) से सारे गंदे तत्व (Dirty element) बाहर निकल जाते है। जिसके कारण लिवर (Liver) सही तरीके से काम करता है।

7. रोजाना आवंले (Gooseberry) खाने (Eat) से आँखो की रौशनी (Eyesight) कभी कम नहीं होती, और जिनकी आँखो की रौशनी (Eyesight) कम है, उसकी आंखे (Eyes) ठीक हो जाती है।

8. आवंले (Gooseberry) में पाये जाने वाले एंटी बैक्टरियल गुण (Anti-bacterial properties) शरीर (Body) की रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) को बढ़ाकर शरीर (Body) को अनेक प्रकार के संक्रमण (Infection) से बचाते है।

9. शरीर (Body) में खून की नलिकाओं (Blood vessels) में कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) जमने के कारण हार्ट अटैक (Heart attack) होने के चांस बढ़ जाते है। आवंले (Gooseberry) में पाया जाने वाला विटामिन C (Vitamin C) खून की नलिकाओं (Blood vessels) में कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) को जमने नहीं देता। जिसके कारण ब्लड प्रेशर (Blood pressure) सामान्य (Normal) रहता है, और हार्ट अटैक (Heart attack) का खतरा (Danger) भी कम हो जाता है।

10. गाय के दूध (Cow milk) के साथ आवंले का मुरब्बा (Gooseberry jam) खाने से या आवंले (Gooseberry) को शहद (Honey) में मिलाकर खाने से खाँसी (cough) में आराम मिलता है।

11. आधे कप आवंले (Gooseberry) के जूस में आधा कप पानी मिलाकर कुल्ला करने से मुँह के छाले (Mouth ulcers) ठीक हो जाते है।

12. आवंले (Gooseberry) का जूस पेट की सारी बीमारिया (Diseases) दूर हो जाती है। आवंले (Gooseberry) का पाउडर एसिडिटी (acidity) के लिए भी फायदेमंद (Beneficial) है।

13. आवंले (Gooseberry) का रोजाना सेवन करने से खून (Blood) में हीमोग्लोबिन (Hemoglobin ) की मात्रा बढ़ती है। जिसके कारण शरीर में कभी भी खून (Blood) की कमी नहीं होती।

14. आवंले (Gooseberry) के निरंतर सेवन करने से शरीर ( body) में खून का संचार (Blood Circulation) अच्छे से होता है, और दिल (Heart) की मासपेशियां (Muscles) मजबूत होती है।

15. अगर आप नींद ना आने के समस्या (Sleep Problem) से परेशान (worried) है, तो रोजाना आवंला (Gooseberry) खाये। आवंला (Gooseberry) खाने से नींद (Sleep) अच्छी आती है।

16. पथरी (Stone) की समस्या (Problem) होने पर आवंले (Gooseberry) के पाउडर को रोजाना मूली के रस (Radish juice) में मिलाकर खाने से पथरी (Stone) कुछ दिनों में ठीक हो जाती है।

Disclaimer: All information are good but we are not a medical organization so use them with your own responsibility.

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × 5 =

error: Content is protected !!