HomeHealth Tips in Hindi

Amrud Khane Ke Fayde – Benefits of Guava in Hindi

Amrud ke Aushadhiya Gun

अमरुद (Guava) स्वाथस्य वर्धक (Healthy) तत्वो (Elements) से भ्रूपर मीठा (sweet) और स्वादिष्ट फल (Delicious fruit) है। अमरुद (Guava) को अफ्रीका का सेब (Africa apples) और संस्कृत भाषा (Sanskrit) में अमृतफल भी कहा जाता है। अमरुद (Guava) का फल (Fruit) ही नहीं उसके पत्तो (Leaves) में भी अनेक गुण (Property) है, जो हमारे शरीर (Body) के लिए आवश्यक है। निम्बू (lemon) और संतरे (Oranges) से 4 गुना अधिक विटामिन सी (vitamin C) पाया जाता है अमरुद (Guava) में।

Benefits of Guava in Hindi

अमरुद (Guava) की कई किस्मे होती है, जिसमे सबसे अधिक लोग गुलाबी अमरुद (Pink guava) खाना पसंद करते है। गुलाबी अमरुद (Pink guava) खाने में तो स्वादिष्ट (Delicious) लगते ही है, इन अमरूदों (Guava) में आने वाली खुशबु (scent) भी बहुत अच्छी होती है। आज हम आपको अनेक गुणों (Properties) से भरे अमरुद (Guava) के बारे में बतायेगे।

अमरुद के फायदे – Benefits of Guava in Hindi

1. बबासीर (Hemorrhoids) के मरीज (Patient) को सुबह (Morning) खाली पेट (empty stomach) अमरुद (Guava) खाना चाहिए।

2. दाँतो के दर्द (Tooth Pain) से छुटकारा पाने के लिए रोजाना अमरुद के पत्तो (Guava Leaves) को पानी (Water) में डालकर उबाले (Boil), उसके बाद इस पानी (Water) में फिटकरी (Alum) मिलाकर कुल्ला करे।

3. अमरुद (Guava) खाने से शरीर (Body) की रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) बढ़ जाती है।

4. अमरुद (Guava) को आग (Fire) में भूनकर खाने से हर प्रकार की खाँसी (Cough) ठीक हो जाती है। गाँव (Village) में आज भी लोग (People) खाँसी (Cough) होने पर इस नुस्खे का इस्तेमाल करते है। एक दिन में 3 से 4 बार भुना अमरुद (Guava) खाने से बेहतर परिणाम (Better results) मिलेगा।

5. अमरुद (Guava) में तांबा खनिज तत्व (Copper minerals) भरपूर मात्रा में पाये जाते है,जो थायराइड (Thyroid) को स्वस्थ (Healthy) रखने के साथ साथ हार्मोन्स (Hormones) का उत्पादन भी करते है।

6. ब्लड प्रेशर (Blood pressure) को कण्ट्रोल करने के लिए रोजाना अमरुद (Guava)का सेवन करना चाहिए।

7. मुँह में छाले (Mouth ulcers) होने पर अमरुद (Guava) की कोमल पत्तिया (Gentle Leaves) चबाये, इससे मुँह के छाले (Mouth ulcers) ठीक हो जायेगे। दिन में 2 या 3 बार ये प्रयोग करे।

8. कच्चे अमरुद (Raw guava) को पीसकर माथे (Forehead) पर लेप करने से आधे सर (Half head) में होने वाला दर्द (pain) ठीक हो जाता है।

9. पेट दर्द (Stomach Pain) होने पर नमक (Salt) के साथ पका अमरुद (Guava) खाये, पेट दर्द (Stomach Pain) में काफी आराम (Relief) मिलेगा।

10. अमरुद के पत्तो (Guava Leaves) को पानी (Water) में उबालकर, उस पानी (Water) से कुल्ला करने से मसूढो में दर्द (Gum pain) और सूजन (swelling) होने पर आराम (Relief) मिलता है।

11. पेट (Stomach) में कब्ज (Constipation) की शिकायत होने पर पका अमरुद ( (Stomach) खाने से आराम (Relief) मिलता है।

12. दाँतो में दर्द (Tooth Pain) होने पर अमरुद (Guava) की छोटी छोटी नयी पत्तियो (Leaves) को चबाये, इससे दाँतो का दर्द (Tooth Pain) ठीक हो जाता है।

13. मोटापे (Obesity) से परेशान (worried) लोगो के लिए अमरुद (Guava) एक खाना फायदेमंद (Beneficial) है। अमरुद (Guava) शरीर (Body) के कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) को कम करता है, जिसके कारण मोटापा (Obesity) कम हो जाता है।

14. आँखों में दर्द (Eye pain) होने पर रात को सोते समय अमरुद के पत्ते (Guava leaves) आँखों (Eye)पर बांधकर सोये।

15. अमरुद (Guava) खाने से मलेरिया बुखार (Malaria fever) ठीक हो जाता है। अमरुद (Guava) और सेब (Apple) का जूस पीने से भी बुखार (fever) उतर जाता है।

16. सुबह (Morning) खाली पेट (empty stomach) अमरुद (Guava) को चबा चबाकर खाये, इससे मानसिक चिंताए (Mental concerns) कम होती है।

17. अमरुद (Guava) के फल और पत्तो (Leaves) के अनेक गुण (Propertie) है, तो अमरुद के बीज (Guava Seeds) कैसे पीछे रहे। अमरुद के बीच (Guava Seeds) निकालकर पीसे। पीसने के बाद लड्डू बनाये, अब इन लड्डू को गुलाबजल (Rose water) में मिश्री मिलाकर खाये। पेट में गर्मी (Stomach heat) होने पर, इस उपाय को करे, पेट (Stomach) में ठंडक पड़ेगी।

18. अमरुद (Guava) को पीसकर चेहरे (Face) पर लगाने से कील मुँहासे (Acne) ठीक हो जाते है।

19. रोजाना अमरुद (Guava) खाने वाले लोगो को स्तन कैन्सर (Breast Cancer), मुँह का कैंसर (Mouth cancer) और प्रोस्टेट कैंसर (prostate cancer) होने का खतरा (Danger) कम होता है।

20. दिमाग (Brain) की मांसपेशियों (Muscles) की ताकत (Strength) बढ़ाने के लिए रोजाना दिन में दो बार सुबह और शाम इलाहाबादी अमरुद (Guava Allahabadi) में नमक (Salt) और काली मिर्च (Black pepper) डालकर खाये।

21. भांग का नशा (Cannabis intoxication) चढ़ने पर, अमरुद के पत्तो (Guava leaves) का रस निकाल कर पिए, भांग का नशा (Cannabis intoxication) उतर जायेगा।

Disclaimer: All information are good but we are not a medical organization so use them with your own responsibility.

Comments (2)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

7 + 10 =

error: Content is protected !!