HomeHealth Tips in Hindi

Treatment of Arthritis in Hindi – गठिया Gathiya Rog Ilaj

गठिया इलाज Arthritis Symptoms and Treatment in Hindi

Arthritis जिसे हिंदी में गठिया (Gathiya) भी कहा जाता हैं, यह जोड़ो से सम्बंधित एक बीमारी (Disease) हैं। इस बीमारी में इंसान की body के जोड़ो में सूजन के साथ दर्द होने लगता हैं। अक्सर यह बीमारी (Disease) बढ़ती उम्र में होती हैं, लेकिन आजकल की lifestyle के चलते कम उम्र के लोग भी इस बीमारी (Disease) के शिकार हो जाते हैं। गठिया (Arthritis) का दर्द इतना असहनीय होता हैं, कि इसके कारण इंसान चलने फिरने जैसे सामान्य कार्य करने में भी समर्थ नहीं रह पाता। सर्दियों में जोड़ो का यह दर्द (Joint pain) अधिक बढ़ जाता हैं, इसीलिए गठिया (Arthritis) के मरीज को अपने आपको ठण्ड से बचाये रखना चाहिए।

Arthritis in hindi आयुर्वेद में माना गया है कि दूषित हवा के शरीर में इक्कठा होने के कारण शरीर के जोड़ो में दर्द होने लगता हैं। जोड़ो में होने वाले दर्द को ही गठिया (Arthritis) नामक बीमारी के नाम से जाना जाता हैं। आज हम आपको Arthritis रोग के कारण और निवारण के बारे में बतायेगे।

Symptoms of Arthritis – गठिया के लक्षण – Gathiya Ke Lakshan

Arthritis का अगर समय पर इलाज ना किया जाए, तो यह एक गंभीर बीमारी का रूप ले सकती हैं। Arthritis के इलाज से पहले इस बीमारी को पकड़ना जरुरी होता हैं। हम आपको Arthritis के कुछ सामान्य लक्षण बतायेगे, जिन्हें जानकर आप आसानी से इस बीमारी का इलाज कर सकते हैं। आइये जाने Arthritis Symptoms .

1. कंधे में हल्का दर्द (Dull pain in shoulder)
2. पैर के पंजों में दर्द (Pain in the toes)
3. पैर की उंगलियों में सूजन (Swelling in the toes)
4. रीढ़ की हड्डी में दर्द (Spinal Pain)
5. उंगलियों के जोड़ो में दर्द (Add fingers ache)
6. घुटनो में दर्द (Knee pain)
7. घुटने के पास सूजन (Near the knee swelling)

गठिया रोग का कारण – Cause of arthritis

हमारी बॉडी में जब यूरिक एसिड की मात्रा जरुरत से अधिक हो जाती हैं, तो बॉडी के सभी जॉइंट्स में दर्द होने लगता हैं। धीरे धीरे यूरिक एसिड की अधिक मात्रा के कारण यूरिक एसिड की गांठे बनने लगती हैं, जिसके कारण इस रोग को गठिया (Gathiya) कहा जाता हैं।

Treating Arthritis – Gathiya Ka Ilaj – गठिया का इलाज

1. लहसुन (Garlic) – एक गिलास गाय के दूध में लहसुन की 8 से 10 कालिया उबाले। अब इस दूध को छलनी से छानकर पिए। रोजाना इस दूध को पीने से Arthritis जल्दी ठीक हो जाता हैं।

2. तेल (oil) – गठिया (Arthritis) रोग से छुटकारा पाने के लिए सरसो के तेल में लहसुन (Garlic) की कालिया पकाकर ठंडा कर ले। अब इस तेल से बॉडी के सभी जोड़ो की रोजाना मालिश करे। रोजाना इस तेल की मालिश गठिया (Arthritis) जल्दी ठीक हो जाएगी।

3. पानी (Water) – शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा अधिक होने पर गठिया (Gathiya) रोग होता हैं। इससे छुटकारा पाने के लिए हमें रोजाना 5 से 6 लीटर पानी पीना चाहिए। अधिक पानी पीने से यूरिक एसिड से बनी गांठे पेशाब के रास्ते टूटकर निकल जाएगी।

4. गाजर (carrot) – गठिया (Arthritis) जल्दी ठीक करने के लिए पिसी गाजर में निम्बू का रस मिलाकर खाये।

5. नारियल पानी (coconut water) – रोजाना खाली पेट एक गिलास नारियल पानी पीने से गठिया (Arthritis) सहित शरीर के अनेक रोग दूर हो जायेगे।

6. जामुन की छाल (Blackberry Bark) – शरीर के सभी जोड़ो पर जामुन की छाल (Blackberry Bark) को उबालकर उसका लेप बनाकर लगाए। इससे गठिया (Arthritis) के कारण जोड़ो में होने वाला दर्द कम हो जायेगा और धीरे धीरे गठिया (Arthritis) का रोग भी समाप्त हो जायेगा।

7. मेथी (Fenugreek) – गठिया (Arthritis) रोग से छुटकारा पाने के लिए रात में भीगी मेथी को सुबह खाली पेट चबाकर खाये।

8. चुकंदर का रस (Beetroot juice) – आधा गिलास चुकंदर के रस में आधा गिलास गाजर का रस मिलाकर रोजाना पिए। इससे गठिया (Arthritis) रोग जल्दी ठीक हो जाता हैं।

9. नमक का पानी (salt water) – रोजाना रात को सोने से पहले गुनगुने पानी में नमक डालकर हाथो पैरो की सिकाई करे। सिकाई से जोड़ो का दर्द कम हो जाता हैं।

10. शहद (Honey) – गर्म पानी के साथ हफ्ते में 3 से 4 बार एक चम्मच शहद में आधी चम्मच दालचीनी पाउडर डालकर पिए। इसका सेवन करने से गठिया जल्दी ठीक हो जाएगी।

10. अमरूद के पत्ते (Guava leaves) – रोजाना अमरूद के पत्ते (Guava leaves) पीसकर उसमे काला नमक खाने से गठिया (Arthritis) रोग जल्दी ठीक होता हैं।

11. सब्जियों का रस (Vegetable juice) – गठिया रोग को ठीक करने के लिए सब्जियों का रस (Vegetable juice) पीना अधिक फायदेमंद हैं। आप रोजाना एक गिलास खीरा, पालक, ककड़ी, लौकी का जूस सुबह खाली पेट पिए।

12. धुप (Sunlight) – धुप (Sunlight) में विटामिन डी पाया जाता हैं, जो हमारी हड्डियों (Bones) को मजबूत बनाता हैं। इसीलिए रोजाना कम से कम 20 से 25 मिनट धुप में जरूर बैठे। सुबह वाली धुप में बैठना अधिक फायदेमंद होता हैं, क्योंकि सुबह वाली धुप में पुरे दिन की अपेक्षा विटामिन डी की मात्रा अधिक होती हैं।

13. पपीते का रस (Papaya juice) – पपीते के रस में काला नमक और अदरक का रस मिलाकर पीने से गठिया के दर्द (Arthritis Pain) में बहुत आराम मिलता हैं।

गठिया (Arthritis) in Hindi – दोस्तों आज हमने आपको गठिया (Arthritis) के बारे में जानकारी दी। आपको हमारी यह जानकरी कैसी लगी हमें जरूर बताये। हम उम्मीद करते हैं, कि आपको हमारी इस जानकरी से जरूर लाभ हुआ होगा। अगर आपके पास गठिया (Arthritis) in Hindi इस विषय में कोई भी जानकारी है, तो आप हमें कमेंट के माध्यम से हमें बता सकते हैं।

Disclaimer: All information are good but we are not a medical organization so use them with your own responsibility.

Comments (2)

  • Thanks for publishing nice post keep it up.

    Reply
  • gathiya me acupressure se bhi kafi labh hota hai , isme hath or paanv ke sabhi joints ke aas paas halka halka pressure dena hota hai tatha sabhi points ko achhe se dabaana padta hai, jo ki joints ke aas paas hi hote hai . isase thand ke samay is bimari se chhutakara pane me aasani hoti hai. Dr Shailendra Gour

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fourteen − thirteen =

error: Content is protected !!