HomeHealth Tips in Hindi

20 Benefits of Cumin Seeds in Hindi with Cumin Meaning

Cumin Seeds Meaning & Benefits Hindi

What is Cumin in Hindi – आज कि हमारी पोस्ट Cumin के ऊपर हैं, और ये पोस्ट आप healthhinditips.com वेबसाइट पर पढ़ रहे हैं। Cumin का नाम सुनकर कुछ लोगो को यह समझ नहीं आया होगा, कि Cumin हैं क्या ? और Cumin के फायदे क्या हैं। Cumin हर घर में रोजाना इस्तेमाल होता हैं, लेकिन अधिकतर लोग Cumin को उसके हिंदी नाम से जानते हैं। अगर आप Cumin के बार में नहीं जानते, तो परेशान होने की जरूरत नहीं हमारी आज की पोस्ट पढ़कर आपको Cumin और इसके फायदों के बारे में पता चल जायेगा। तो चलिए पोस्ट को आगे बढाये और जाने Health Benefits of Cumin Seeds के बारे में।

Cumin in Hindi

क्यूमिन सीड्स का हिंदी अर्थ (Cumin Seeds Meaning in Hindi)

Cumin Seeds को हिंदी में जीरा कहते हैं। जीरा सभी घरो में मशाले के रूप में इस्तेमाल किया जाता हैं। जीरे को कई लोग Jira Jeeraa और Zira जैसे नाम से भी जानते हैं। सौंफ जैसा दिखने वाला यह पौधा एपियेशी परिवार का पौधा हैं। Cumin का वानस्पतिक नाम क्युमिनम सायमिनम हैं।

क्यूमिन क्या हैं (Cumin in Hindi)

क्यूमिन सभी के घरो में इस्तेमाल होने वाला एक मशाल हैं। यह मशाल खाने के स्वाद को बढा देता हैं, इसीलिए लोग इसे खाना बनाने के लिए प्रयोग में लाते हैं। जीरा छोटे आकर के बीज जैसा होता हैं। यह एक पौधे के छोटे खुशबूदार फूलो को सुखाकर बनाया जाता हैं। जीरे में अनेक प्रकार के तत्व पाये जाते हैं, जो मानव शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। जीरे में पाये जाने वाले गुणकारी तत्वो के कारण जीरे को केवल मशाले का नाम देना उचित नहीं हैं। यह एक आयुर्वेदिक औषधि हैं, जिसके उपयोग से हम अनेक रोगों को ठीक कर सकते हैं। तो चलिए जाने इस छोटे से जीरे के अनगिनत लाभो के बारे में।

जीरे के औषधीय लाभ (Cumin Seeds In Hindi)

1. जीरा खाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती हैं, जिससे हमारा शरीर अनेक रोगों से बचा रहता । जीरे में भरपूर मात्रा में आयरन पाया जाता हैं, जिसके सेवन से हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ जाता हैं।

2. अगर आपको डायरिया हैं, तो ताजी दही के साथ 5 ग्राम जीरा पाउडर मिलाकर खाये। इससे डायरिया रोग ठीक हो जायेगा।

3. अगर किसी औरत का छोटा बच्चा मर जाता हैं, तो औरत के स्तनों का दूध सुख जाता हैं। दूध जमा होने के कारण औरत को काफी दर्द होता हैं। इस दर्द से छुटकारा पाने के लिए काले जीरे का लेप बनाकर स्तनों पर लगाये। काले जीरे के लेप से औरत को बहुत आराम मिलेगा।

4. Loose motion होने पर दही में शक्कर और जीरा मिलाकर खाये। भुना जीरा और काला नमक छाज में मिलाकर पीने से भी दस्त की समस्या ख़त्म हो जाती हैं।

5. एक गिलास पानी में एक चम्मच जीरा डालकर उबाले। अब इस उबले पानी को ठंडा करके पियें। इस पानी को पीने से मासिक धर्म समय पर होगा।

6. जोड़ो या कमर में दर्द होने पर जीरे का सेवन फायदेमंद हैं। इसके लिए पानी में जीरा पाउडर और गुड़ घोलकर पियें।

7. पाचन किर्या कमजोर होने के कारण पेट दर्द, दस्त जैसे रोग होने लगते हैं। ऐसा होने पर खाना खाने के बाद एक गिलास छाज में सेंधा नमक, काली मिर्च और Cumin Powder मिलाकर पियें। ऐसा करने से पाचन किर्या मजबूत होती हैं। जिससे खाना अच्छे से पचता हैं।

8. सेंधा नमक और भुने जीरे का पाउडर मिलाकर मसूढो पर मलकर लार टपकाने से मसूढो की सूजन खत्म हो जाती है।

9. अक्सर गर्मियों के मौसम में लोगो को फुंसिया होने लगती हैं। इन फुंसियो से छुटकारा पाने के लिए रोज सुबह एक गिलास पानी में एक चम्मच कच्चे जीरे का पाउडर घोलकर पियें।

10. अगर आपके शरीर में खुजली हो गयी हैं, तो जीरे को पानी में उबाले। अब इस पानी को नहाने के पानी में मिलाकर नहाये। इस पानी से नहाने से खुजली दूर हो जायेगी।

11. खून की उल्टियां आने पर 5 ग्राम मिश्री और 2 ग्राम Cumin Seeds को पसीकर पानी के साथ लेने से उल्टियां बन्द हो जाती हैं।

12. अगर आपको कुत्ते ने काट लिया हैं, तो तुरंत बीस काली मिर्च और दो चम्मच जीरा पीसकर पेस्ट बनाये और इस पेस्ट को उस स्थान पर लगाये जहाँ कुत्ते ने काटा हैं। इस घरेलू नुस्खे से कुत्ते का काटा जहर निकल जायेगा।

13. रोजाना जीरे का सेवन करने से त्वचा में निखार आता हैं। इससे त्वचा में कसावट आती हैं, जिससे आप बढ़ती उम्र में भी जवान लगते हैं।

14. रक्त से गन्दगी दूर करने और शरीर में रक्त को बढ़ाने के लिए जीरे के पानी में गुड़ घोलकर पियें।

15. जीरे में कुछ तत्व ऐसे पाये जाते हैं, जो शरीर को ठंडक प्रदान करते हैं। इसी कारण से लोग गर्मियों के मौसम में जलजीरा बहुत पीते हैं।

16. कुछ लोगो को टेंशन के कारण रात को अच्छी नींद नहीं आती। ऐसे लोग रात को सोने से पहले गर्म दूध के साथ एक चम्मच भुने पीसे जीरे का सेवन करे। इससे आपको नींद अच्छी आयेगी।

17. अगर आपको खाना सही से नहीं पचता तो खाना खाने के बाद जीरा काली मिर्च, पीपल और सेंधा नमक का एक चम्मच पाउडर ताजे पानी के साथ ले। रोजाना ऐसा करने से पेट साफ़ रहता हैं, और खाना जल्दी पच जाता हैं।

18. खाना खाने का मन ना करने या भूख ना लगने पर भुने पिसे जीरे को अनार के जूस में मिलाकर पियें। इससे आपको खुलकर भूख लगेगी।

19. रोजाना जीरे का सेवन करने से शरीर में खून की कमी दूर हो जाती हैं। इसीलिए जिन लोगो के शरीर में खून की कमी हैं, वो लोग रोजाना जीरे का सेवन जरूर करे।

20. कुछ लोगो को दस्त के साथ साथ Vomiting भी होने लगती हैं। Vomiting होने पर एक गिलास पानी में निम्बू, नमक और पिसा भुना जीरा मिलाकर पियें। इससे जल्दी ही Vomiting बन्द हो जायेगी।

21. पेट की चर्बी कम करने के लिए जो पोषक तत्व और एंटीआँक्सीडेट जरुरी होते हैं, वो सभी जीरे में पाये जाते हैं। इसीलिए रोजाना जीरे का सेवन करने वाले लोगो के पेट पर चर्बी नहीं जमी होती।

22. पेट में गैस की समस्या आज सभी के साथ हैं। पेट में गैस बनने से पेट भारी होकर फूलने लगता हैं। कुछ लोगो को गैस बनने पर बहुत दर्द होता हैं। गैस से छुटकारा पाने के लिए 2 गिलास पानी में 2 चम्मच जीरा डालकर तब तक पकाये जब तक पानी आधा हो जाये। अब इस पानी को ठंडा करके खाना खाने के बाद रोजाना पियें। इस नुस्खे से पाचक किर्या भी दुरुस्त रहती हैं।

23. अगर आप दिल की बीमारियों से बचे रहना चाहते हैं, तो रोज सुबह एक कप पानी में 10 ग्राम भीगा जीरा मिश्री मिलाकर खाये।

24. खाँसी होने पर शहद में सौंफ और जीरा पाउडर मिलाकर खाये। यह नुस्खा जल्दी आपकी खाँसी को ठीक कर देगा।

25. पेट दर्द होने पर जीरे का लेप करे। जीरे के लेप से पेट दर्द से तुरंत आराम मिल जायेगा।

26. जो लोग रोजाना जीरा खाते हैं, उनके मुँह से कभी बदबू नहीं आती।

27. बिच्छु के काटने पर जीरा पाउडर में शहद और नमक मिलाकर लगाये। इससे बिच्छु के काटे का जहर निकल जाता हैं।

दोस्तों Avocado in Hindi के बाद हमने आपको Cumin in Hindi के बारे में जानकारी दी। हमें उम्मदी हैं कि जीरे के इन अनोखे फायदों के बारे में जानकर आपको जरूर लाभ होगा। जीरे के जो लाभ हमने आपको बताये उसके अलावा भी जीरा अनेक रोगों के इलाज में काम आता हैं। अगर आपके पास जीरा के फायदे इस बारे में अन्य कोई जानकारी हो, तो आप हमें जरूर बताये। अगर आप हमने जुड़ना चाहते हैं, तो हमारा फेसबुक पेज जरूर लाइक करे।
हमारा फेसबुक पेज हैं –

Disclaimer: All information are good but we are not a medical organization so use them with your own responsibility.

Comments (1)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen − three =

error: Content is protected !!