HomeHealth Tips in Hindi

Meaning of Cinnamon in Hindi – Benefits of Dalchini (Cinnamon)

Cinnamon का हिंदी मतलब व लाभ

Cinnamon in Hindi Meaning – Cinnamon इंग्लिश भाषा का शब्द हैं, जिसे हिंदी में दालचीनी कहते हैं। सिनेमोमम जेलैनिकम ब्रेयन (Cinnamomum Zeylanicum Breyn) एक सदाबहार पेड़ हैं, इस पेड़ से निकलने वाली छाल को दालचीनी (Cinnamon) कहा जाता हैं। सिनेमोमम जेलैनिकम के पेड़ श्रीलंका और दक्षिण भारत में अधिक पाएं जाते हैं। जयपत्र (Lauraceae) प्रजाति के इस पेड़ की लंबाई 10 से लगभग 20 मीटर तक होती हैं। दालचीनी (Cinnamon) का उपयोग मुख्य रूप से मसाले के रूप में भोजन को स्वादिष्ट बनाने के लिए किया जाता हैं। संस्कृत में दालचीनी को त्वक और दारुसिता नामो से भी जाना जाता हैं।

Cinnamon in Hindi

आजकल दालचीनी (Cinnamon) की छाल से अनेक प्रकार की दवाईया बनाई जाती हैं, जो अनेक प्रकार के रोगों को दूर करके हमारे शरीर को स्वस्थ बनाये रखने में सहायक होती हैं। दालचीनी (Cinnamon) में पाए जाने वाले इन्ही गुणों के कारण दालचीनी (Cinnamon) को आयुर्वेद में औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता हैं। Cinnamon in Hindi आज की हमारी पोस्ट में हम आपको दालचीनी पाउडर (Dalchini powder) के फायदों के बारे में बतायेगे।

Cinnamon in Hindi : दालचीनी पाउडर का फायदे (Dalchini Powder Ke Fayde)

1. त्वचा को सूंदर बनाने और मुँहासो से छुटकारा पाने के लिए दालचीनी का इस्तेमाल करे। इसके लिए रात को सोने से पहले शहद और दालचीनी पाउडर का पेस्ट बनाकर फेस पर लगाए। सुबह इस पेस्ट को साफ़ गुनगुने पानी से धो ले।

2. पेट में अल्सर की समस्या हैं, तो दालचीनी का सेवन करे। शहद में दालचीनी मिलाकर रोजाना खाने से पेट का अल्सर धीरे धीरे ठीक हो जाता हैं।

3. संधिवात (Osteoarthritis) की समस्या होने पर गुनगुने पानी में एक चम्मच दालचीनी पाउडर और दो चम्मच शहद मिलाकर पियें। इससे संधिवात (Osteoarthritis) के रोगी को आराम मिलेगा।

4. अक्सर लोगो को सर्दियों में ठंडी हवा कर कारण सिर दर्द होने लगता हैं। ठंडी हवा से होने वाले इस सिर दर्द से छुटकारा पाने के लिये माथे पर दालचीनी (Cinnamon) पाउडर का लेप लगाये।

5. आजकल हर कोई अपने आपको फिट रखना चाहता हैं, लेकिन बढ़ते वजन के कारण खुद को फिट रख पाना सभी के लिए संभव नहीं हो पाता। दालचीजी द्वारा आप अपने वजन को कम करने खुद को फिट रख सकते हैं। मोटापा कम करने के लिए एक कप पानी में दालचीनी पाउडर (Dalchini powder) डालकर उबाले। उसके बाद उस पानी में स्वाद अनुसार शहद मिलाकर पियें।

6. कुछ लोगो को गले में हमेशा खराश की समस्या रहती हैं। गले की खराश को दूर करने के लिए वो अनेक उपाय करते हैं, लेकिन खराश दूर नहीं होती। लेकिन दालचीनी पाउडर (Cinnamon powder) का छोटा सा उपाय आपके गले की खराश को हमेशा के लिए ठीक कर सकता हैं। इसके लिए आप गुनगुने पानी में काली मिर्च, शहद और दालचीनी पाउडर मिलाकर गरारे करे।

7. शुगर के मरीज के लिए दालचीनी वरदान हैं। रोजाना सुबह आधी चम्मच दालचीनी पाउडर लेने से शुगर कण्ट्रोल हो जाती हैं। शुगर होने पर दालचीनी का सेवन 40 से 50 दिन के लिए करे।

8. खाँसी और सर्दी झुकाम ऐसी प्रॉब्लम हैं, जो किसी भी समय किसी भी उम्र के बच्चो को हो सकती हैं। बच्चे सर्दी झुकाम की चपेट में जल्दी आ जाते हैं। सर्दी झुकाम की समस्या होने पर दालचीनी में शहद मिलाकर खाने से बहुत आराम मिलता हैं। सर्दी झुकाम की समस्या होने पर सुबह शाम इसका सेवन करने से जल्दी लाभ होगा।

9. दालचीनी पाउडर को दूध में मिलाकर पीने से नींद अच्छी आती हैं, और हड्डिया भी मजबूत होती हैं।

10. अगर आपकी धमनियों में कोलेस्ट्रोल जम गया हैं, तो दालचीनी पाउडर और शहद को रोटी पर लगाकर खाये। इस प्रयोग से जमा कोलेस्ट्रोल हट जायेगा।

11. अगर आप चीटियों से परेशान हैं, तो दालचीनी का इस्तेमाल करे। जिस रास्ते से घर में चीटियां आती हैं, उस रास्ते में दालचीनी के पाउडर का छिड़काव कर दे। दालचीनी पाउडर के छिड़काव से चिड़िया आनी बन्द हो जायेगी।

12. कुछ लोगो के मुँह से इतनी अधिक बदबू आती हैं, कि लोग उन उनसे बाते करना भी पसंद नहीं करते। मुँह की बदबू को दूर करने के लिए रोजाना थोड़ी मात्रा में दालचीनी पाउडर खाये।

13. आज 99 % लोग जोड़ो के दर्द से पीड़ित हैं, और यह समस्या रोजाना बढ़ती ही जा रही हैं। दालचीनी के छोटे से उपाय को करके आप जोड़ो के दर्द में आराम पा सकते हैं। जोड़ो के दर्द में आराम पाने के लिए समान मात्रा में दालचीन और शहद मिलाकर जोड़ो की मालिश करे।

14. अगर आपके पेट में दर्द होता हैं, तो दालचीनी पाउडर और शहद मिलाकर खाने से पेट दर्द की प्रॉब्लम ख़त्म हो जायेगी।

15. अगर आपको बिछु ने काट लिए हैं, तो काटे गए भाग पर दालचीनी का तेल लगाए। इससे दर्द कम होगा।

16. 2 चम्मच शहद और आधी चम्मच दालचीनी पाउडर को दांत के जिस हिस्से में दर्द हैं, वहाँ लगाने से दर्द मिनटो में गायब हो जाता हैं।

दालचीनी पाउडर के साइड इफ़ेक्ट (Side Effects of Cinnamon Powder)

1. दालचीनी पाउडर फायदेमंद हैं, लेकिन इसका अधिक सेवन करने से कई प्रकार के साइड इफ़ेक्ट हो सकते हैं। ध्यान रहे अगर आप दवाई के रूप में दालचीनी का सेवन कर रहे हैं, तो दालचीनी की मात्रा 6 ग्राम से अधिक ना ले।

2. अगर आपको लिवर से जुड़ा कोई भी रोग हैं, तो दालचीनी का इस्तेमाल ना करे। यह लिवर की बीमारी को और बढा देगा।

3. दालचीनी का अधिक और लंबे समय तक सेवन करना हानिकारक होता हैं, इसीलिए इसका अधिक और लंबे समय तक सेवन ना करे।

4. कुछ लोगो को दालचीनी के सेवन से एलर्जी हो जाती हैं। अगर ऐसा हैं, तो तुरंत दालचीनी का सेवन छोड़ दे।

5. आयुर्वेद में दालचीनी को औषधि का दर्जा दिया गया हैं, लेकिन आयुर्वेद के अनुसार ही दालचीनी का अधिक सेवन जहर के समान हैं।

6. अगर आप माँ बनने वाली हैं, तो गलती से भी दालचीनी का सेवन ना करे। गर्भावस्था में दालचीनी का सेवन हानिकारक हैं।

दोस्तों आपको हमारी Cinnamon Meaning in Hindi यह पोस्ट कैसी लगी हमे जरूर बताये। गूगल पर Cinnamon in Hindi इस विषय पर अनेको पोस्ट लिखी हैं, जिनमे Cinnamon Ke Fayde के बारे में बताया गया हैं। हमने भी आजकि अपनी पोस्ट में आपको दालचीनी के लाभो से अवगत कराया हैं। आपको हमारी यह पोस्ट कैसी लगी हमे कमेंट के माध्यम से जरूर बताये। हमें आपके कमेंट का इंतजार रहेगा।

Disclaimer: All information are good but we are not a medical organization so use them with your own responsibility.

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

10 + six =

error: Content is protected !!