HomeHealth Tips in Hindi

जानिये गर्भावस्था का तीसरा महीना Garbhavastha Ka Tisra Mahina

जाने गर्भावस्था का तीसरा महीना कैसा होता है, गर्भवती महिलाओं के लिए| गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को हर काम सोच समझकर करना पड़ता है| गर्भावस्था के दौरान की गयी एक गलती गर्भवती महिला के लिए बहुत खतरनाक हो सकती है| यही कारण है, कि पूरा परिवार मिलकर गर्भवती महिला की देखरेख में लग जाता है| गर्भावस्था के हर महीने में गर्भवती महिला के शरीर में अनेक प्रकार के शारीरिक और मानसिक परिवर्तन होते है, जिसके कारण पुरे 9 महीने तक महिला को खुद की पूरी तरह देखभाल करनी पड़ती है|

गर्भावस्था का तीसरा महीना

 

गर्भावस्था के 9 महीनो की बात करे तो, गर्भावस्था का तीसरा महीना गर्भवती महिला के लिए बहुत विशेष होता है| इस महीने में गर्भवती महिला और उसके पेट में पल रहे शिशु का बहुत तेजी से विकास होता है| गर्भावस्था के तीसरे महीने में गर्भ में पल रहे शिशु के अंगो का सबसे अधिक विकास होता है| गर्भावस्था के तीसरे महीने में बच्चे के दिल का विकास होना शुरू हो जाता है| इसी समय बच्चे की त्वचा, पलके और पैरो की अँगुलिया भी बनने लगती है| गर्भावस्था के तीसरे महीने में ही बच्चा पेट में चलना और हिलना शुरू हो जाता है|

गर्भावस्था का तीसरा महीना गर्भवती महिला और उसके बच्चे के लिए बहुत नाजुक महीना होता है| इस महीने में गर्भपात होने का खतरा अधिक रहता है| इसीलिए गर्भावस्था के तीसरे महीने में गर्भवती महिला को विशेष केयर करने की जरूरत होती है| आज इस आर्टिकल में हम आपको गर्भावस्था के तीसरे महीने में किस प्रकार अपना ध्यान रखे, इसके बारे में जानकारी देंगे|

गर्भवती महिला गर्भावस्था के तीसरे महीने में क्या खाये

1. इस महीने में माँ बनने वाली महीना को दलिया, चोकर, चुकंदर, चीकू और ब्रोकली जैसी चीजों का सेवन अधिक मात्रा में करना चाहिए| ये चीजे बच्चे के सही विकास में सहायक है| जो महिलायें नॉन वेज खाती है, उनको इस महीने में प्रोटीन युक्त चिकन, मछली और मटन खाना चाहिए| ये सेहत के लिए लाभकारी है|

2. विटामिन बी 6 गर्भावस्था के तीसरे महीने में गर्भवती महिला के लिए बहुत लाभदायक होता है| इसीलिए इस महीने में गर्भवती महिला को विटामिन बी 6 युक्त सब्जियों और ताजे फलो का खूब सेवन करना चाहिए|

3. दूध में प्रोटीन और कैल्शियम जैसे अनेक प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते है, जो गर्भवती महिला और उसके होने वाले बच्चे के सही विकास के लिए सहायक है| इस महीने में गर्भवती महिला को दूध और दूध से बनी सभी चीजों का सेवन करना चाहिए| दूध बच्चे की हड्डियों को मजबूत बनाता है, जिससे बच्चा भी हेल्थी पैदा होता है|

4. इस महीने में बच्चे का सबसे अधिक विकास होता है| इसीलिए इस महीने में विटामिन, प्रोटीन युक्त चीजों का सेवन अधिक करना चाहिए| बच्चे का सम्पूर्ण विकास आपके भोजन पर निर्भर करता है| आप जैसा भोजन करती है, आपका बच्चा वैसा ही पैदा होता है| अगर आप चाहती है, कि आपका बच्चा सेहतमंद पैदा हो, तो ताजे फलो, हरी सब्जयों, और ड्राई फ्रूट्स चीजों का भरपूर सेवन करे| अपने डॉक्टर से भी खाने पीने के बारे में सलाह लेते रहे|

गर्भवती महिला गर्भावस्था के तीसरे महीने में इन चीजों का विशेष ध्यान रखे

1. इस महीने में गर्भवती महिला को डॉक्टर की सलाह अनुसार समय समय पर पेशाब की जांच, शुगर की जाँच, डायग्नोस्टिक जाँच और ब्लड प्रेशर की जाँच कराते रहना चाहिए| अगर आपको किसी भी तरह की परेशानी हो रही है, तो बिना डॉक्टर की सलाह के कोई दवा ना ले, और तुरंत किसी महिला डॉक्टर से संपर्क करे|

2. गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला के शरीर में अनेक प्रकार के शारीरिक और मानसिक परिवर्तन होते है, इन परिवर्तनों के चलते अधिकतर औरते तनाव में चली जाती है| तनाव माँ और बच्चे दोनों के लिए खतरनाक है, इसीलिए गर्भावस्था के दौरान तनाव मुक्त रहे, और खुद को खुश रखे| इससे आपके बच्चे के विकास पर अच्छा असर पड़ेगा|

3. नार्मल डिलीवरी और खुद को स्वस्थ रखने के लिए गर्भवती महिला को रोजाना योग और एक्सरसाइज करते रहना चाहिए| गर्भावस्था के दौरान हल्की एक्सरसाइज करे| अगर आपको एक्सरसाइज कैसी करनी चाहिए, इसके बारे में जानकारी नहीं है, तो किसी डॉक्टर से पहले जानकारी प्राप्त कर ले| गलत तरीके से एक्सरसाइज करने से भी नुकसान हो सकता है|

4. गर्भावस्था के चलते गलती से भी भारी सामान ना उठाये| यह आपके बच्चे के लिए खतरनाक हो सकता है| भारी वजन उठाने से कई बार बच्चा भी गिर जाता है| गर्भावस्था में हमेशा ढीले ढाले और आरामदायक कपडे पहने|

गर्भावस्था के तीसरे महीने में गर्भवती महिलाका फील करती है

1. गर्भावस्था के तीसरे महीने से महिलाओं को सर दर्द, कब्ज, पैरो के तलवो और अंगुलियों में सूजन और रात को सोने में परेशानी होने लगती है|

2. गर्भावस्था के तीसरे महीने में महिलाओं के ब्रेस्ट का आकर बढ़ जाता है| इस महीने में बच्चे के अधिक अंग विकसित होने के कारण गर्भ का आकर बढ़ जाता है, जिसके कारण पेट के निचे के हिस्से में सूजन आ जाती है|

3. इस महीने से महिला का रक्तचाप बढ़ने लगता है| वजन और त्वचा के रंग में भी परिवर्तन आ जाता है|

अगर आप माँ बनने वाली है तो गर्भावस्था का तीसरा महीना आपके लिए बेहद खास है| ऐसे में अपनी देखभाल करना ना भूले| अगर आप माँ बनने वाली है, तो इस पोस्ट में आपको जो टिप्स बताये गए है, हमें पूरी उम्मीद है, वो आपके लिए बेहद लाभकारी होंगे| पोस्ट के बारे में अपने विचार पोस्ट के निचे बने कमेंट बॉक्स के कमेंट करके जरूर बताये|

Disclaimer: All information are good but we are not a medical organization so use them with your own responsibility.

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 + 10 =

error: Content is protected !!