HomeHindi Story

गुस्सा Hindi Moral Stories on Anger

Short Story for Inspiration

Short Story for Inspiration

एक बार एक किसान ने अपना बीवी को गुस्से में बहुत बुरा भला कहकर उसे घर से निकाल दिया। कुछ दिन बीत जाने के बाद किसान को अपनी गलती का एहसास हुआ। वह अपनी बीवी को लेने गया, तो उसने अब घर आने से इंकार कर दिया। किसान अब अपनी बीवी के बिना दुखी रहने लगा।

एक दिन किसान एक पंडित जी के पास गया और उन्हें सारी बात बतायी। पंडित जी ने किसान से कहा, कल 10 गुलाब के फूल तोड़ कर मेरे पास लाना। अगले दिन किसान सुबह उठा, और पंडित जी के कहे अनुसार घर पर लगे गुलाब के पेड़ से 10 गुलाब के फूल तोड़ कर पंडित जी के पास ले गया।

पंडित जी ने किसान से वो फूल लिए और कुछ देर बाद कहा, अब इन फूलो को उस पेड़ पर दोबारा लगा आओ। पंडित जी की बात सुनकर किसान बोला, यह तो अब संभव नहीं हैं।

किसान की बात सुनकर पंडित जी बोले, इसी प्रकार गुस्से में तुमने जो शब्द अपनी पत्नी को बोले और उन शब्दो से तुम्हारी पत्नी को जो दुःख पंहुचा वह तो अब किसी भी स्थिति में वापिस लाना संभव नहीं हैं।

दोस्तों हम गुस्से में या किसी व्यक्ति को दुःख पहुचाने के उद्देश्य से उसे बुरा भला कह देते हैं, परंतु बाद में आपके द्वारा बोले गये वो कटु वचन आपको ही अधिक दुःख देते हैं।

किसी को बुरा भला कहने के बाद हो सकता हैं, हम उस इंसान से माफ़ी मांग ले, और वो इंसान हमें माफ़ भी कर दे, लेकिन क्या कभी वो हमारे शब्दो को भुला पायेगा।

मुंह से निकले कटु वचन उसी घाव की तरह होते हैं, जो ऊपर से तो भर जाते हैं, लेकिन अंदर से उस घाव को भरना नामुमकिन सा हो जाता हैं। इसीलिये किसी को कुछ भी कहने से पहले सोच लेना चाहिए, और कभी भी अपने मुख से किसी के बारे में ऐसे वचन ना बोले, जिससे सामने वाले को दुःख हो।

जब हम किसी दूसरे व्यक्ति को बुरा भला कहते हैं, तो वह सब हमें पाप का भागी बना देता हैं।

दुसरो को कटु वचन कहते समय हमें इस बात का अनुमान नहीं होता, लेकिन हमारी उस गलती की सजा हमें आगे जाके किसी ना किसी रूप में जरूर मिलती हैं। इसीलिए आज से ही प्रण ले कि कभी किसी को बुरा नहीं कहेगे और हमेशा  सब को खुश रखने का प्रयत्न करेगे।

दोस्तों आपको हमारी यह प्रेणनादायक कहानी कैसी लगी, हमें कमेंट करके जरूर बताये। हमारा उद्देश्य आपके जीवन में कुछ अच्छे बदलाव लाना हैं, और हमारे इस उद्देश्य को पूरा करने में हमें आपके साथ की जरुरत हैं। अगर आप भी अपनी कोई कहानी हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं, तो आप हमें [email protected]
इस Email Id पर मेल करे। हमें आपके मेल का इंतजार रहेगा।

धन्यवाद 🙂

Comments (1)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirteen + 20 =

error: Content is protected !!