HomeHealth Tips in Hindi

Kabj Treatment Constipation in Hindi – कब्ज का इलाज (Qabz)

Constipation (Kabj) Treatment in Hindi

Constipation (Kabj) Treatment in Hindi

कब्ज (Constipation) होना आजकल एक सामान्य (Normal) समस्या (Problem) हो गयी है। कब्ज (Constipation) होने पर भूख (Hunger) लगनी बन्द हो जाती है और एसिडिटी (Acidity), गैस (Gas) जैसी समस्याएं (Problems) पैदा हो जाती है। कब्ज (Constipation) पाचन तंत्र (Digestive System) का विकार (Disorder) है, और यह बच्चो से लेकर बूढे किसी भी उम्र (Age) के इंसान (Human) को हो सकता है।

कब्ज (Constipation) की समस्या (Problem) खाने पीने की गलत आदतों (Wrong Habits) की वजह से होती है। एक बार में ही अधिक भोजन (Food) कर लेना, या भोजन (Food) करने के तुरंत बाद बैठे रहने या लेट जाने से भी कब्ज (Constipation) की समस्या (Problem) पैदा होती है। आज हम आपको ऐसे घरेलू नुक्से (Home Remedies) बतायेगे , जिनके उपयोग से आपकी पुरानी से पुरानी कब्ज (Constipation) की समस्या (Problem) ठीक हो जायेगी।

कब्ज होने के कारण – Reason Behind Kabz

1. पानी कम पीना (Drink less water)
2. शरीर में तरह पदार्थो की कमी (Lack of Fluids in The Body)
3. पाचन किर्या का सही काम ना करना (The Right not to Digestion)
4. भोजन टाइम पर ना करना (Do Not Eat on Time)
5. चाय, कॉफी का अधिक सेवन (Tea, coffee Intake)
6. बासी भोजन खाना (Stale food)
7. रेशेदार सब्जिया कम खाना (Fibrous Vegetables, Eat less)
8. आंते सिकुड़ जाने पर (When Gut Shrinking)
9. बिना चबाये भोजन करना (Masticated without Eating)

कब्ज के लक्षण – Symptoms of Constipation

1. कब्ज (Kabz) के मरीज (Patient) का सुबह वाशरूम (Washrooms) में जाकर फ्रेस होने में परेशानी होती है।
2. कब्ज (Kabz) के मरीज (Patient) को भूख (Hunger) कम लगती है।
3. कब्ज (Kabz) के मरीज (Patient) को गैस (Gas) की समस्या (Problem) होने लगती है।
4. कब्ज (Kabz) के मरीज (Patient) को कमजोरी (Weakness) होने लगती है।
5. कब्ज (Kabz) के मरीज (Patient) के मुह से बदबू (Foul odor) आने लगती है।

कब्ज का इलाज – Constipation (Kabj) Treatment in Hindi

1. कब्ज (Kabz) के मरीज (Patient) के पेट (stomach) में पानी (Water) की कमी हो जाती है, इसलिए कब्ज (Kabz) के मरीज (Patient) को रोजाना अधिक से अधिक पानी (Water) पीना चाहिए। डॉक्टर (Doctor) भी अधिक पानी (Water) पीने की सलाह देते है। पानी (Water) खाना खाने से आधा घंटा पहले या आधा घंटा बाद में पिए।

2. कब्ज Kabz) की बीमारी (Disease) दूर करने के लिए रात को सोते समय गरम दूध (Milk) में आंवला (Gooseberry), बहेड़ा (Bahera) और हरड़ (Harad) का समान मात्रा में पाउडर (Powder) डाल कर पिए।

3. कब्ज (Kabz) में मरीज (Patient) के पेट (stomach) में मल जम जाता है। पेट (stomach) में जमे मल को आसानी से बाहर निकालने के लिये एक छोटे गिलास गुनगुने पानी में एक 2 चम्मच निम्बू का रस (Lemon juice) डालकर पीना चाहिए।

4. दूध (Milk) में त्रिफला पाउडर (Triphala powder) मिलाकर पीने से कब्ज (Kabz) के मरीज (Patient) को आराम मिलता है।

5. रात को एक तांबे के लोटे (Copper lota) पानी (Water) भरे, उस लोटे (lota) में एक चम्मच त्रिफला पाउडर (Triphala powder) भी डाल दे। सुबह इस पानी (Water) को छलनी से छान कर खाली पेट पिए। इस विधि का रोजाना इस्तेमाल करने से कुछ ही दिनों में कब्ज (Kabz) की समस्या (Problem) पूरी तरह ख़त्म हो जायेगी।

6. रात को सोने से पहले कब्ज (Kabz) के मरीज (Patient) को एक गिलास गुनगुना दूध (Milk) जरूर पीना चाहिए।

7. इसबगोल (Isabgol) की भूसी को सुबह शाम दही (curd) में घोलकर खाने से पुराने से पुराना कब्ज (Kabz) ठीक हो जाता है।

8. कब्ज (Kabz) अधिक होने पर अगर बुखार (fever) के साथ दस्त (Diarrhea) हो रहे है, तो 250 ग्राम गरम दूध (hot milk) में 10 ग्राम अरंडी का तेल (Castor oil) मिलाकर पिए।

9. अमरुद (Guava) और पपीते (Papaya) का सेवन कब्ज (Kabz) के मरीज (Patient) के लिए फायदेमंद (Beneficial) होता है।

10. कब्ज Kabz) के मरीज (Patient) को सेब का रस (Apple juice) पीना चाहिए। सेब का रस (Apple juice) आंतो (Colon) की सफाई करके, आंतो (Colon) की बदबू (foul odor) को दूर करता है।

11. कब्ज (Kabz) के मरीज (Patient) को पत्ता गोभी (Cabbage) का जूस पीना चाहिए, यह कब्ज (Kabz) में फायदेमंद (Beneficial) है।

12. टमाटर (Tomatoes) खाना कब्ज (Kabz) के रोगियो (Patients) के लिए फायदेमंद (Beneficial) है। टमाटर (Tomatoes) को कच्चा सलाद (salad) में खाना चाहिए। टमाटर (Tomatoes) का सुप बना कर भी पी सकते है। टमाटर (Tomatoes) खाने से आंतो (Colon) की सफाई हो जाती है।

13. अलसी के बीज (Linseed seeds) को हलकी आंच पर भूनकर उसका पाउडर बना ले। अब एक गिलास पानी में 15 ग्राम पाउडर डालकर 4 घंटे के लिए छोड़ दे, उसके बाद इस पानी को छान कर पी ले।

14. धनिये (Coriander) की चटनी खाने से भी कब्ज (Kabz) में आराम (Rest) मिलता है।

15. कब्ज (Kabz) से छुटकारा पाने के लिए मरीज (Patient) को कम से कम 15 से 20 दिन तक रात को सोने से पहले गुनगुने दूध (Warm milk) में बादाम का तेल (Almond oil) मिलाकर पिए।

16. खाने के हरी पत्तेदार सब्जिया (Vegetables) खाये। ताजे फलो (Fruit) को खाये, फलो (Fruit) का जूस निकाल कर पिए। पालक (Spinach) का जूस पीने से कब्ज (Kabz) में आराम मिलता है।

17. रात को सोने से पहले एक गिलास दूध (Milk) में 10 से 12 मुनक्खा (Raisins) बीज निकाल कर उबाले, अब इस दूध (Milk) को पिए और मुनक्खा (Raisins) को चबा चबा कर खाये।

18. पके बिल्ब बेल फल (Bilwa vine fruit) का सेवन करना चाहिए, इस फल को पानी में उबाल कर मसलकर जूस निकालकर पिए।

19. आंवले का चूर्ण (Amla powder) कब्ज (Kabz) के रोग (Disease) को जड़ से मिटा देता है।

20. रात को सोने से पहले दूध (Milk) में अंजीर (Fig) उबाल कर पिए। अंजीर (Fig) में अधिक मात्रा में फायबर (Fiber) पाया जाता है।

21. कब्ज (Kabz) के रोगियो (Patients) को आम का रस (Mango juice) पीना चाहिए, आम का रस (Mango juice) पीने के बाद दूध (Milk) पीना भी अच्छा होता है।

22. लहसुन (Garlic) पाचन शक्ति (Digestion Power) को बढ़ाता (Increases) है, इसलिए सब्जी (Vegetable) बनाते समय सब्जी (Vegetable) में लहसुन (Garlic) का उपयोग करना चाहिए।

23. दूध (Milk) में गुलकंद (Gulkand) मिलाकर पीने से कब्ज (Kabz) की समस्या (Problem) दूर जाती है।

24. 10 से 15 दिन तक ताजे संतरे का जूस (orange juice) निकाल कर खाली पेट पिए। जूस ( juice) में बर्फ, नमक या अन्य किसी प्रकार का मसाला ना मिलाये।

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × one =

error: Content is protected !!