HomeHealth Tips in Hindi

नीम के फायदे और गुण – Neem Tree Benefits in Hindi

Neem Ke Fayde aur Gun

नीम का पेड़ भारत में हर स्थान पर पाया जाता हैं। इस पेड़ के पत्तो से लेकर जड़ तक सभी का इस्तेमाल किया जाता हैं। स्वाद की बात करे तो नीम का पेड़ कड़वा होता हैं, लेकिन इस पेड़ की कड़वाहट में अनेक ऐसे गुण होते हैं, जो बड़ी से बड़ी बीमारियों को दूर कर देते हैं। पुराने ज़माने से लोग नीम का इस्तेमाल दांत साफ़ करने के लिए करते हैं। नीम की दातुन से दांत साफ़ करने से दांत मजबूत सुंदर और मजबूत हो जाते हैं। गाँव में जाकर देखे तो आज भी लोग नीम की दातुन का इस्तेमाल दांत साफ़ करने के लिए करते हैं।

Neem Tree in Hindi

नीम के पेड़ (Neem Tree in Hindi) से अनेक प्रकार की दवाईया बनाई जाती हैं। नीम के पेड़ से शैम्पू से लेकर नहाने का साबुन तक बनाया जाता हैं। आपका जानकर हैरानी होगी कि भारत से करीब 34 देशो में नीम के पत्तो की सप्लाई की जाती हैं। नीम के पेड़ के गुणों अंदाज आप इसी बात से लगा सकते हैं, कि इसके पत्तो को विदेशी लोग हमसे खरीदते हैं। नीम के असंख्य गुणों के कारण नीम को गुणों का खजाना माना गया हैं। भारत में नीम को पूजनीय पेड़ की संख्या दी गयी है। आज हम आपको औषधीय गुणों से भरपूर नीम के (About Neem Tree in Hindi) पेड़ के गुणों के बारे में बतायेगे। आइये जाने नीम के पेड़ के फायदे (Neem Tree ke Fayde) –

नीम के पेड के फायदे (Neem Plant Benefits Information in Hindi)

1. रोजाना नीम का जूस पीने से शरीर में मौजूद सभी विषैले तत्व शरीर से बाहर निकल जाते हैं। आपका जानकर हैरानी होगी लेकिन यह सच हैं, नीम के रोजाना सेवन से आप कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से भी बचे रह सकते हैं।

2. मलेरिया के मरीज को नीम की छाल के काढ़े में सोंठ और धनिया पाउडर मिलाकर खिलाये। इससे मलेरिया के मरीज को जल्दी आराम मिलता है।

3. अगर आपको चेचक रोग हैं, तो आप नीम के पत्तो को पानी में उबालकर उस पानी से नहाये। नीम के पानी से नहाने से चेचक रोग ठीक हो जायेगा। नीम चेचक के विषाणु को फैलने से भी रोकता हैं।

4. बेर के पत्ते और नीम के पत्ते पानी में उबाले। अब इस पानी को ठण्ड करके, इस पानी से बालो को धोये। इस पानी से बाल धोने से बाल मजबूत और काले हो जायेगे।

5. बवासीर का रोग होने पर सुबह खाली पेट नीम के बीज का पाउडर गुनगुने पानी से खाये। इससे बवासीर रोग में आराम मिलता हैं।

6. पानी में नीम की पत्तियो का पेस्ट मिलाकर पीने से हैजा रोग ठीक हो जाता हैं।

7. अगर आपके बालों में जुए हो गयी हैं, तो नीम के पानी से बालो को धोये। इससे जुए मरकर बालो से निकल जायेगी।

8. नीम के तेल की मालिश करने से गठिया की सूजन कम हो जाती हैं।

9. अगर आपके मुँह से बदबू आती हैं, या फिर आपके दाँतो में कीड़ा लगा है तो नीम की दातुन से दांत साफ़ करे। इससे आपके मुँह से आने वाली बदबू दूर होगी और साथ में दाँतो में लगा कीड़ा भी। नीम की दातुन करने से दाँतो के साथ आपके मसूढ़े भी मजबूत हो जायेगे।

10. नीम के पत्तो का पेस्ट बनाकर बिछु के काटे गये भाग पर लगाने से। बिछु के काटे का असर कम होता हैं, और जलन भी कम होती हैं।

11. दांत दर्द होने पर नीम के पत्ते पानी में उबाले और उस पानी से कुल्ला करे। इससे दांत दर्द ठीक हो जायेगा।

12. त्वचा से जुड़े सभी रोग जैसे झाइयां, ब्लैक हेड्स, पिम्पल्स आदि सभी नीम का सेवन करने से ठीक हो जाते हैं। ऐसा इसीलिए होता हैं, क्योंकि स्किन से जुड़ा कोई भी रोग इन्फेक्शन या ब्लड में गन्दगी के कारण होता हैं। नीम के इस्तेमाल से ब्लड शुद्ध होता हैं, और सभी प्रकार के इन्फेक्शन भी दूर हो जाते हैं।

13. नीम का पत्तों को धुप में सुखाये। अब इन सूखे पत्तो को उस स्थान पर जलाये, जहाँ पे मच्छर अधिक है। नीम के पत्तो के धुँए से मच्छर भाग जाते है।

14. नीम के तेल (Neem oil) से मालिश करने से सभी प्रकार के चर्म रोगों से छुटकारा मिलता है।

15. अगर आपके घर अधिक मच्छर होने से मलेरिया और डेंगू जैसी बीमारियां फैल रही है तो नीम के तेल (Neem oil) का दिया जलाये। नीम के तेल (Neem oil) का दिया जलाने से मच्छर भाग जाते हैं, और इन रोगों से छुटकारा मिलता हैं।

16. जो लोग बढ़ते वजन से परेशान हैं, उनके लिए नीम वरदान हैं। रोजाना नीम का जूस पीने से वजन कम होता हैं।

17. अगर आपकी आंते कमजोर हैं और आपको हमेशा कब्ज की समस्या रहती हैं, तो नीम की निम्बोली का पाउडर रात को सोने से पहले रोजाना गुनगुने पानी से ले। इसका रोजाना इस्तेमाल करने से जल्दी ही कब्ज और आंतो की कमजोरी दूर हो जायेगी।

18. पीलिया रोग होने पर शहद में आधी मात्रा में नीम के पत्तो का रस मिलाकर चाटे। ऐसा करने से जल्दी पीलिया रोग ठीक हो जाता हैं।

19. यूरिन इन्फेक्शन की समस्या हो या पेट में जलन और गैस की नीम सभी रोगों को ठीक करता हैं। इसके लिए रोजाना नीम का पानी पियें।

20. नीम की निम्बोली का तेल लगाने से आग से जले स्थान में जलन कम होती हैं, और यह जल्दी ठीक भी हो जाता हैं।

21. फुंसिया होने पर नीम के तेल में कपूर मिलाकर लगाए। इससे फुंसिया ठीक हो जाती हैं।

22. जो लोग शुगर से पीड़ित हैं, उनके लिए नीम बहुत फायदेमंद हैं। रोजाना नीम का सेवन करने से शरीर में इंसुलिन की मात्रा बढ़ती हैं, जिससे ब्लड में शुगर का लेवल कण्ट्रोल में रहता हैं।

23. चेचक के रोगियों को नीम के पत्तो पर पर सोना चाहिए। नीम के पत्तो पर सोने से चेचक रोग से छुटकारा मिलता हैं।

24. अगर आपके अनाज में अक्सर कीड़े हो जाते हैं, तो आप अनाज में नीम के पत्ते रखते हैं। नीम के पत्ते रखने से अनाज में कीड़े नहीं होते, और जो कीड़े पहले से हैं, वो भी मर जाते हैं।

25. बाल झड़ने पर नीम के पत्तों का लेप बालो में लगाने से बाल झड़ने बन्द हो जाते हैं।

26. नीम के पत्तो का रस निकाल कर पीने से खून साफ़ होता हैं, जिससे त्वचा से जुड़े सभी रोग ठीक हो जाते है।

27. गर्मियों में लू से बचने के लिए नीम के पत्ते, फूल, फल, जड़ और छाल को पानी में उबाले। अब इस पानी को ठंडा करके पिये। इससे लू का आपके ऊपर कम होगा।

28. अगर आपको बुखार हो गया हैं, तो नीम की जड़ को पानी में उबाले और ठंडा करके इस पानी को पिये।

29. दाँतो में दर्द होने या मसूढो से खून आने पर नीम के तेल में नमक मिलाकर दांत साफ़ करे। इससे मसूढो से आने वाला खून बन्द हो जायेगा और दांत दर्द से भी छुटकारा मिलेगा।

30. अगर आपको पसीना अधिक आता हैं, तो रात को सोते समय दूध में 2 से 3 बून्द नीम का तेल डालकर पिए। इससे पसीना कम आयेगा।

Neem Benefits नीम के पेड़ के इतने फायदे हैं, कि इस पेड के इस्तेमाल से आप अनेक रोगों से बचे रह सकते हैं। इसीलिए हो सके तो अपने घर में नीम का एक पेड जरूर लगाए। इससे आप नीम के पेड़ के असंख्य गुणों का लाभ उठा सकते हैं। जिस स्थान पर नीम का पेड़ होता हैं, उस स्थान के आस पास की हवा भी शुद्ध हो जाती हैं। अगर आपके पास नीम के पेड़ से जुडी कोई भी जानकारी हैं, तो आप हमारे साथ अपनी जानकारी को साँझा कर सकते हैं।

Disclaimer: All information are good but we are not a medical organization so use them with your own responsibility.

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirteen − eleven =

error: Content is protected !!