HomeHindi Story

समस्या का हल Problem Solving Motivational Lekh in Hindi

Hindi Inspirational Short Article

Hindi Inspirational Short Article

मनोविज्ञान की क्लास में एक टीचर एक छोटी सी बॉल को लेकर आये। उन्होंने उस बॉल को एक बच्चे को देते हुए बोला, क्या तुम इसे कुछ समय के लिए ऊपर उठा कर पकड़ सकते हो ?”

बच्चे ने उत्तर दिया – जी हां सर।

कुछ देर बाद टीचर ने पूछा – तुम्हे इसे पकड़ने में कोई तकलीफ तो नहीं हो रही ?
बच्चे ने उत्तर दिया – नहीं सर ?

टीचर ने उससे 2 घंटे बाद पूछा – क्या अब तुम्हे इस बॉल को पकड़ने में कोई तकलीफ हैं ?
बच्चे ने उत्तर दिया – सर मेरे हाथ में अब दर्द होने लगा।

टीचर ने उसके हाथ से बॉल ले ली और उससे पूछा – अगर तुम इस बॉल को और अधिक समय के लिए उठाये रखते, तो तुम्हे क्या लगता हैं क्या होता ?

बच्चा बोला – सर अगर आप और अधिक देर तक मुझसे यह बॉल उठाने के लिए कहते, तो मेरा हाथ सूज जाता, और मैं दर्द के मारे रोने लगता।

उसकी बात सुनकर कुछ बच्चे उसका मजाक बनाने लगे, लेकिन टीचर ने कहा, बेटे तुमने बिलकुल सही जबाव दिया।

टीचर ने अब सब बच्चो से पूछा – क्या इस पूरी प्रक्रिया के दौरान बॉल का वजन बदला ?
एक बच्चे ने जबाब दिया – नहीं सर।

टीचर ने अब पूछा बॉल का वजन तो बदला ही नहीं, फिर हाथ में दर्द क्यों होने लगा ?

टीचर के इस सवाल का किसी बच्चे ने कोई जबाब नहीं दिया। सब सोच में पड़ गये, कि आखिर ऐसा क्यों हुआ।

तब टीचर ने बताया, ये बॉल आपके जीवन की प्रॉब्लम्स के समान हैं। हमारे जीवन की प्रॉब्ल्म्स भी इसी तरह होती हैं, उनके बारे में थोड़ी देर सोचने पर हमें कुछ पता नहीं चलता। इन प्रॉब्लम्स के बारे में कुछ अधिक देर सोचिये तब आपको दर्द होने लगता हैं, और अगर आप इनके बारे में लगातार सोचते रहेगे तब ये प्रॉबल्म आपको धीरे धीरे अंदर से कमजोर और खोखला बना देंगी। और सबसे अधिक सोचने वाली बात यह हैं कि इन प्रॉब्लम्स के बारे में सोचने पर इन प्रॉब्लम्स को सॉल्व करने में जरा सी भी मदद नहीं मिली, इसके विपरीत हमारे शरीर को नुकसान होने लगा।

दोस्तों जीवन में आने वाली प्रॉब्लम्स के बारे में सोचना चाहिए, लेकिन इतना भी नहीं सोचना चाहिए कि ये हमारे शरीर पर दुष्प्रभाव डालने लगे। वैसे भी चिता उन चीजो की करनी चाहिए, जिसका समाधान हमारे हाथ में होता हैं।

आपको हमारी ये ज्ञानवर्धक जीवन से जुडी कहानी कैसी लगी, हमें कमेंट करके जरूर बताये। हमसे जुड़ना हैं, या हमारे साथ कुछ शेयर करना हैं तो हमें ईमेल करे। हमारी Email Id हैं – [email protected]

Comments (1)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × 4 =

error: Content is protected !!