HomeHindi Quotes

Top 45 Motivational Quotes of Albert Einstein in Hindi

Albert Einstein Quotes(अनमोल वचन) in Hindi

 

Albert Einstein Quotes in Hindi

अल्बर्ट आइंस्टीन (Albert Einstein) को Modern Physics के पिता के रूप में जाना जाता हैं| इन्होने ही द्रव्यमान-ऊर्जा समीकरण E = mc2 और सापेक्षता के सिद्धांत की खोज की थी| 1921 में अल्बर्ट आइंस्टीन (Albert Einstein) की खोज के लिये उन्हें नोबेल पुरस्कार से भी नवाजा गया था| अल्बर्ट आइंस्टीन (Albert Einstein) कई किताबें भी लिखी थी, जिनके लिए टाइम पत्रिका ने 1999 में इन्हे शताब्दी-पुरूष घोषित किया था|

1. आज हम आपको अल्बर्ट आइंस्टीन (Albert Einstein) को से जुड़े कुछ अमूल्य विचार बतायेगे| जिन्हे पढ़कर आपको आगे बढ़ने के प्रेणना मिलेगी| 🙂

2. मनुष्य के पास क्या है, इससे नहीं बल्कि वह दूसरों को क्या दे सकता है, इससे मनुष्य की कीमत का पता चलता हैं|

3. जो बीत गया उससे कुछ सीखना, जो आज है उसे पूरी तरह जीना, और जो आने वाला है, उसके लिया अच्छा सोचना यही सबसे महत्तवपूर्ण कार्य हैं|

4. हर इंसान के अंदर टैलेंट होता हैं, लेकिन अगर आप एक मछली को पेड़ पर चढ़ने को कहेंगे, तो वो पूरी ज़िन्दगी अपने आपको मूर्ख समझने लगेगी|

5. सवाल पूछना कभी बंद नहीं करना चाहिए|

6. खेल के नियम सीखने पर आप दूसरे खिलाड़ी से अच्छा खेलोगे|

7. अधिकृत व्यक्ति से बिना कोई सवाल पूछे उसका सम्मान करना सत्य के खिलाप जाना हैं|

8. मूर्ख लोग को ही गुस्सा आता हैं|

9. संयोग भगवान द्वारा बनाया गया है, एक गोपनीय रास्ता हैं|

10. ज्ञान की अपेक्षा कल्पनाशीलता बुद्धि जाने का सही संकेत हैं|

11. एक नई सोच के साथ ही हम मानव जीवन को जीवित रख सकते हैं|

12. सुनने और देखने व्यक्तित्व नहीं बनता, उसके लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती हैं|

13. अगर आप किसी लड़की को चुम्बन करते हुए भी सही तरीके से गाड़ी चला रहे है, तो इसका मतलब आप चुम्बन पर उतना ध्यान नहीं दे रहे जितना आपको देना चाहिए|

14. एक नारी को शुभ विदाई का समय और एक पुरष को शुभ विदाई कैसे दे यह कभी पता नहीं चलता|

15. जलते हुये अंगारे पर बैठने पर आपको एक सेकंड एक घंटे के बराबर लगती है, और एक खूबसूरत लड़की के साथ बैठने पर आपको एक घंटा एक सेकंड के बराबर लगता है, इसी को सापेक्षता कहते हैं|

16. जो चीज आप सही ढंग से खुद नहीं समझ पाए, उसे आपको दूसरों को साधारण तरीके से कभी नहीं समझा सकते|

17. धर्म बिना विज्ञान लंगड़ा, और विज्ञान बिना धर्म अंधा माना जाता हैं|

18. बुद्धिमता और मूर्खता में एक बड़ा फर्क है, बुद्धिमता एक सीमा पर जाकर रुक जाती हैं|

19. मेरे लिए स्वर्ग और नर्क दोनों स्थान के लोग अच्छे है, क्योंकि मेरे दोस्त स्वर्ग और नर्क दोनों स्थान पर हैं|

20. गलतिओं का मतलब हैं, कुछ नया सीखने की कोशिश करना, जो व्यक्ति गलती नहीं करता, वो कभी कुछ नया सीखने की कोशिश नहीं करता|

21. उदारता और अच्छाई ही सच्चा धर्म हैं|

22. जहाँ परेशानी और मुसीबतें होती है, वही आगे बढ़ने के सुनहरे अवसर छुपे होते हैं|

23. ज्ञान और सत्य की निरंतर खोज करना व्यक्ति का सबसे विशेष गुण होता हैं|

24. कुछ करना है, तो अभी से शुरआत कर दो, क्योंकि समय बहुत कम हैं|

25. हिंसा कभी सृजनात्मक नहीं होती, वह बाधा को केवल जल्दी से हटा सकती हैं|

26. बुद्धि नहीं आपका चरित्र आपको एक महान वैज्ञानिक बनाता हैं|

27. मनुष्य से कई गुना अधिक मजबूत हालत होते हैं|

28. जो आपको याद था, वह सबकुछ भूलने के बाद भी जो आपको याद रह जाता है, वही शिक्षा हैं|

29. जिज्ञासु होना सबसे बड़ी काबिलियत है, और केवल यही मेरे पास हैं|

30. कुछ लोगो खुद को ज्ञान और सत्य का न्यायाधीश समझने लगते है, उन लोगो का यह भ्रम भगवान जल्दी ही तोड़ देते हैं|

31. कल्पना से नहीं तर्क से किसी भी काम को शुरू करना चाहिए| कल्पना आपको कही भी ले जा सकती हैं, लेकिन तर्क आपको सही सही रास्ते पर ले जाएगा|

32. एक काम को बार बार करने पर अलग अलग परिणाम की इच्छा रखना पागलपन हैं|

33. सूचना को ज्ञान नहीं समझा जा सकता|

34. शांति केवल समझकर प्राप्त की जा सकती हैं, जोर डालकर नहीं|

35. इंसान को यह नहीं देखना चाहिए कि उसके अनुसार क्या होगा, बल्कि यह देखना चाहिये कि क्या हैं|

36. इस दुनिया में बुराई फैलती जा रही है, इसीलिए नहीं की बुरे लोग बढ़ रहे है, बल्कि इसलिए कि बुराई सहने वाले और बुराई होने देने वाले लोग बढ़ रहे हैं|

37. एक सफल व्यक्ति बनने की बजाय सबसे पहले मूल्यों पर चलने वाले इंसान बनो|

38. मानव की मूर्खता और ब्रह्माण्ड ये दोनों ही चीजे अनंत काल तक चलती रहती हैं, लेकिन मैं ब्रह्माण्ड के बारे में दृढ़होकर कुछ नहीं कह सकता|

39. भगवान के सामने मूर्ख और बुद्धिमान सब लोग समान हैं|

40. मुसीबतें आने पर ही अपने अंदर के विस्वाश की पहचान होती हैं|

41. अगर आपके सिद्धांत से आपको तथ्य नहीं मिलते, तो अपने तथ्यों को बदल दो|

42. कोई भी समस्या जिस स्तर पर उत्पन्न हुई हैं, उसी स्तर पर हल नहीं की जा सकती|

43. चीजों को देखने के दो नजरिये हैं, 1. दुनिया की हर एक चीज चमत्कार हैं, 2. दुनिया में कोई भी चमत्कार नहीं हैं|

44. लोगो के प्यार में गिरने का जिम्मेदार गुरुत्वाकर्षण नहीं हैं|

45. एक कुर्सी, एक मेज, एक थाली भरकर फल और एक अच्छा सा वायलन ; खुश रहने के लिए इससे अधिक और क्या चाहिए ?

Comments (1)

  • Bahut hi accha post hai aur albert einstein ke barabar buddhiman insaan humne aaj tak nahi dekha unki jab soch hi mahan thi to wo to mahan ban hi jayenge

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eight + 14 =

error: Content is protected !!